यूरिन इंफेक्शन के दौरान होती हैं बहुत परेशानी, इन 5 सुपर फूड्स से पाए राहत

यूरिन इन्फेक्शन एक आम समस्या हैं जो कि महिलाओं और पुरुषों दोनों में पाई जाती हैं। हांलाकि ज्यादातर महिलाओं को इसका सामना करना पड़ता हैं। इस परेशानी के दौरान ब्लैडर सिकुड़ने के साथ ही यूरिन के दौरान जलन, दर्द व खूने आने की समस्या सामने आती हैं। यह बेहद पीड़ादायी स्थिति होती हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे पानी की कमी, मसालेदार भोजन, यूरिन को रोकना आदि। इससे छुटकारा पाने के लिए दवाइयों से सेवन से अच्छा हैं अपनी डाइट में बदलाव कर ऐसी चीजों को शामिल किया जाए जो यूरिन इंफेक्शन की पीड़ा में राहत दिलाए। आज इस कड़ी में हम आपको कुछ ऐसे ही आहार की जानकारी देने जा रहे हैं।

 

 

नारियल पानी

नारियल पानी में विटामिन, कैल्शियम, आयरन, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी- बैक्टीरियल व एंटी- वायरल गुण होते हैं। इसके साथ सेवन से शरीर हाइड्रेट होता है। पेट में होने वाली जलन से आराम मिल ठंडक का अहसास होता है। ऐसे में रोजाना सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से यूरिन इंफैक्शन की परेशानी से जल्द ही राहत मिलती है। ‌

आंवला

विटामिन-सी से भरपूर आंवला का सेवन करने से इम्यूनिटी स्ट्रांग होने में मदद मिलती है। यूरिन इंफैक्शन की परेशानी में भी यह बेहद फायदेमंद होता है। इसके लिए 1 चम्मच आंवला पाउडर में 4-5 इलायची के दानों का पाउडर मिलाकर खाने से फायदा मिलता है।

 

दही

पौष्टिक गुणों से भरपूर दही का सेवन करने से इम्यूनिटी स्ट्रांग होने के साथ बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। इसका सेवन करने से यूरिन में होने वाली जलन से आराम मिलता है। इसके साथ ही अपनी डेली डाइट में दूध और लस्सी को शामिल करना बेस्ट ऑप्शन है।

सेब का सिरका

सेब में सभी जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स पाएं जाते हैं। सेब के साथ इसका सिरका भी बेहद फायदेमंद होता है। इसके लिए 1 चम्मच गुनगुने पानी में 2 चम्मच सिरका और स्वादानुसार शहद मिलाकर सेवन करने से यूरिन इंफैक्शन की परेशानी से छुटकारा मिलता है।

इलायची

5-6 इलायची के दानों को पीसकर उसका पाउडर बना लें। फिर उसमें 1/2 सौंठ पाउडर, 1 चम्मच अनार का रस, चुटकीभर सेंधा नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। इससे यूरिन इंफैक्शन से जल्द ही राहत मिलेगी।

Check Also

कोविड-19 के 80 फीसदी मरीजों में विटामिन डी की कमी का चला पता, शोधकर्ताओं ने किया दावा

विटामिन डी पोषक कोरोना वायरस महामारी के समय अपने निहितार्थ के लिए पहले से ज्यादा …