यूपी: सीएम योगी ने की मिशन शक्ति की शुरुआत, बोले- पीड़ित को श्रद्धांजलि देने के लिए बलरामपुर को चुना

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों को बीच आज बलरामपुर में मिशन शक्ति की शुरूआत की है. शारदीय से वासंतिक नवरात्र तक चलने वाले इस अभियान का उद्देश्य महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन दिलाना है. मुख्यमंत्री ने बलरामपुर से तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने लखनऊ से इसकी शुरुआत की.

 

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”शक्ति की आराधना के पावन अवसर ‘शारदीय नवरात्रि’ के प्रथम दिवस से प्रदेश में ‘मिशन शक्ति’ का शुभारंभ किया जा रहा है. यह अभियान महिलाओं और बच्चों के प्रति सम्मान तथा सुरक्षा की भावना के प्रसार तथा महिला स्वावलंबन की आवश्यकता को नवीन आयाम प्रदान करने में सहयोगी होगा.”

 

उन्होंने कहा कि एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना के पीड़ित को श्रद्धांजलि देने के लिए, मैंने बलरामपुर से मिशन शक्ति अभियान को शुरु करने का फैसला किया. सीएम ने कहा कि महिलाओं व बच्चों के प्रति सम्मान और सुरक्षा का भाव हमारी संस्कृति है. इसी भावना के साथ आज ‘मिशन शक्ति’ का शुभारंभ हो रहा है.

 

क्या है योगी सरकार का मिशन शक्ति?
180 दिन के इस अभियान के दौरान प्रदेश के सभी 75 जिलों, 521 ब्लाकों, 59,000 पंचायतों, 630 शहरी निकायों व 1535 थानों के माध्यम से महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने का प्रशिक्षण, सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूक किया जाएगा. पहले चरण में इस अभियान को जागरूकता आधारित रखा जाएगा. द्वितीय चरण में मिशन शक्ति के इन्फोर्समेंट (क्रियान्वयन) पर बल दिया जाएगा.

Check Also

लखनऊ पुलिस कमिश्नर और उनकी पत्नी-बेटा कोरोना पॉजिटिव, डॉक्टरों की सलाह पर होम आइसोलेट

लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय के संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार की जा रही …