युवाओं को उद्यमी बनाएगी UP सरकार:परंपरागत पेशे से जुड़े लोगों को बनाया जाएगा मॉडर्न; महिलाओं उद्यमियों को मिलेगा ब्याज मुक्त ऋण

वस्त्र उद्योग के जरिए 25 हजार लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य। पॉवरलूम बुनकरों को रियायती दर बिजली देने का प्रावधान भी बजट में है।  - Dainik Bhaskar

वस्त्र उद्योग के जरिए 25 हजार लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य। पॉवरलूम बुनकरों को रियायती दर बिजली देने का प्रावधान भी बजट में है।

  • OODP के लिए 250 करोड़ और CM युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ का प्राविधान
  • विश्वकर्मा श्रम सम्मान और माटी कला बोर्ड के लिए क्रमश: 30 करोड़ और 10 करोड़ खर्च करेगी सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने आज विधानसभा में 5वां व पूर्ण बजट 2021-22 पेश किया। इस सत्र का कुल बजट 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ (5,50,270.78 करोड़ रुपए) का है। जबकि 2020-21 में बजट 5.12 लाख करोड़ रुपए का था। इस साल बजट 38 हजार करोड़ रुपए ज्यादा है। इस बजट में युवाओं को उद्यमी बनाने पर फोकस किया गया है, ताकि औरों भी स्थानीय स्तर पर रोजगार मिल सके। इसलिए ODOP (एक जिला, एक उत्पाद) के लिए बजट में 250 करोड़ का प्रावधान किया गया है। वहीं, सरकार ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

माटी कला बोर्ड के लिए 10 करोड़

विश्वकर्मा श्रम सम्मान के लिए बजट में 30 करोड़ की व्यवस्था की गई है। परंपरागत पेशे से जुड़े नाई, धोबी, दर्जी, मोची, लोहार, बढ़ई, सुनार आदि को प्रशिक्षण देने उनको आधुनिक तकनीक से जोड़ने के लिए सरकार ने विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना शुरू की थी। मकसद यह था कि संबंधित लोगों को अद्यतन तकनीक के अनुरूप प्रशिक्षण मिले ताकि इनके उत्पाद भी गुणवत्ता और दाम में बाजार में प्रतिस्पर्धी बनें। बजट में इस योजना के लिए 30 करोड़ का प्रावधान है। इसी तरह माटी के काम से जुड़े लोगों की कला को संरक्षण एवं संवर्धन के लिए बजट में माटी कला बोर्ड के लिए 10 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।

वस्त्र उद्योग में 25 हजार लोगों को रोजगार दिया जाएगा

स्थानीय स्तर पर सबसे कम पूंजी, बुनियादी सुविधा और न्यूनतम जोखिम में सर्वाधिक रोजगार मुहैया कराने वाले खादी एवं ग्रामोद्योग के तहत मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को 10 लाख रुपए तक ब्याज मुक्त ऋण और सामान्य वर्ग के पुरुषों के लिए 4 फीसद सालाना ब्याज पर बैंकों से ऋण मुहैया कराएगी। वस्त्र उद्योग के जरिए 25 हजार लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य। पॉवरलूम बुनकरों को रियायती दर बिजली देने का प्रावधान भी बजट में है।

बंद कताई मिलों में PPP मॉडल में बनेंगे औद्योगिक क्लस्टर

उप्र स्टेट स्पिनिंग कंपनी की बंद पड़ी कताई मिलों की परिसंपतियों के उपयोग का भी प्रावधान बजट में किया गया है। इनमें PPP मॉडल से औद्योगिक पार्क, इंडस्ट्रीयल इस्टेट, कल्स्टर बनाए जाएंगे। इसके लिए बजट में 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

 

Check Also

डील से पहले धराए तस्कर:लखनऊ पुलिस ने 7 मूर्ति तस्करों को किया गिरफ्तार, 700 साल पुरानी भगवान पार्श्वनाथ की प्रतिमा बरामद

  पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ में अहम जानकारी जुटाई है। हवाला डील के जरिए …