यह आयुर्वेदिक डाइट फॉलो कर ब्लड शुगर को नियंत्रित करें डायबिटीज रोगी, जानें इसके बारे में

दुनियाभर में कई बीमारियां विद्यमान हैं जिसमे से एक हैं डायबिटीज। एक रिपोर्ट के अनुसार विश्वभर में डायबिटीज के 77 मिलियन पीड़ित हैं और साल 2030 तह यह आंकड़ा 100 फीसदी बढ़ने की संभावना जताई जा रही हैं। इस बीमारी में इंसुलिन नहीं बन पाता हैं जो कि श्री शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है। अपनी सेहत बनाए रखने के लिए इस बीमारी में आपने खानपान पर बहुत ध्यान देने की जरूरत होती हैं। आप इसके लिए आयुर्वेद की भी मदद ले सकते हैं जिसमें मधुमेह के लिए उचित डाइट बताई गई हैं। आज इस कड़ी में उसी आयुर्वेदिक डाइट के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे फॉलो कर डायबिटीज रोगी शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित कर पाएंगे।

 

सुबह लें हर्बल टी

अपने दिन की शुरुआत हर्बल टी से करें। ये आपके चपाचय को सही करने में मदद करेगा। इस हर्बल टी को बनाने के लिए मुलेठी, दालचीनी, इलायची के तीन फली, धनिया के बीज को एक साथ मिला कर पीस लें और इस एक डिब्बे में बंद करके रख लें। अब हर दिन सुबह जैसे आप चाय बनाते हैं उसमें इस पाउडर को मिला लें और इसका सेवन करें।

सुबह का नाश्ता

डायबिटीज के मरीज को नाश्ते में बाजरा, रागी, या मक्का जैसे अघुलनशील फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ को लेना चाहिए। पैनकेक, उबले हुए इडली, मल्टीग्रेन रोटी के खाने के लिए बहुत फायदेमंद है। साथ ही पुदीना, धनिया, टमाटर, हर्बल चटनी जैसे मसालेदार मसालों को शामिल करने से भोजन के पाचन और अवशोषण में सुधार हो सकता है।

मिड-मॉर्निंग स्नैक

मिड-मॉर्निंग स्नैक में प्रोटीन से भरा एक कटोरा (60 ग्राम) हो सकता है जैसे कि मसालेदार स्प्राउट्स या सलाद। यह आपके शरीर को दिन के लिए आवश्यक प्रोटीन प्रदान करेगा। साथ आप फलों के भरपूर फ्रूट चार्ट भी खा सकते हैं।

 

दोपहर का भोजन

दोपहर के भोजन में दाल का सूप, उबले हुए फलियां और एक गिलास छाछ शामिल करें। यह आवश्यक कैलोरी प्रदान करने के साथ-साथ मधुमेह की भूख को शांत करने के लिए अच्छा है। इसे आप ऐसे भी रख सकते हैं, जैसे कि

– 50 ग्राम उबले हुए चावल
– 40 ग्राम पकी हुई दाल
– 100 ग्राम सब्जियां
– छाछ

शाम के समय

शाम को एक कप गर्म मसाले वाली हल्की मुलेठी से बनी दूध की चाय पिएं। यह दिन से शाम तक चयापचय को ठीक रखेगा और पिछले भोजन को पचाने में मदद करेगा। साथ ही आप इन दौरान कार्ब्स वाले स्नैक्स खाने से बचें।

रात का खाना

रात का खाना एक दम हल्का रखें। आदर्श आयुर्वेदिक डिनर में छाछ के साथ ओट्स दलिया, गेहूं दलिया और उबले हुए सब्जियों का एक मध्यम आकार का कटोरा शामिल है। वैकल्पिक रूप से, आप सूटी वेज करी के साथ रोटी खा सकते हैं।

Check Also

चॉकलेट ब्राउनीज़ बनाने की विधि

हम आपको ब्राउनी बनाना बता रहे हैं. वो पूरी तरह से एगलेस है. इसलिए इसे वो लोग …