यहां तिल का होना माना जाता है शुभ और अशुभ के प्रतीक

तिल का हमारे शरीर पर मौजूद होना शुभ अशुभ का प्रतीक माना जाता है। लेकिन इसके लिए जगह और तिल का आकार भी मायने रखता है। तिल का निशान बहुत छोटा नहीं होना चाहिए। अगर तिल बड़ा है तो यह आपकी किस्मत बना सकता है। यहां शरीर के उन अंगों पर मौजूद तिल की बात करें जो व्यक्ति के लिए अशुभ फलदायी होता है।
# दाहिनी भौह: दाहिनी भौह पर तिल सुख में वृद्घि करता है। यह दांपत्य जीवन में तालमेल और प्यार के लिए भी शुभ होता है जबकि बायीं भौंह पर तिल अशुभ फलदायक होता है इससे सुख में कमी एवं दांपत्य जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
# गर्दन और कंधे: गर्दन और कंधे के जोड़ के पास तिल का होना शुभ फलदायी नहीं होता है। जबकि गर्दन के पीछे तिल का होना शुभ होता है। गले में स्थित तिल व्यक्ति को दीर्घायु और अच्छी आवाज का मालिक बनाता है।
# कांख में तिल: स्त्री हों या पुरुष कांख में तिल का होना शुभ नहीं होता है। जिनके कांख में तिल होता है उन्हें जीवन में कई बार धन हानि का सामना करना पड़ता है।
# नाक के अगले भाग पर तिल: जिस व्यक्ति के नाक के आगले भाग पर तिल का निशान होता है वह भोग-विलास में अधिक रुचि रखता है। नाक के दाहिनी तरफ तिल होता है वह कम प्रयास से ही अधिक लाभ प्राप्त करने वाले होते हैं। जबकि नाक के बायीं तरफ तिल अशुभ होता है।
# कनपटी: कनपटी के पास तिल का होना पारिवारिक दृष्टि से शुभ नहीं माना जाता है। कनपटी के पास तिल व्यक्ति को वैरागी बनाता है। व्यक्ति की रुचि पारिवारिक जिम्मेदारियों एवं दांपत्य जीवन में कम होती है।
# दोनों कंधे: जिस स्त्री या पुरुष के दोनों कंधे पर तिल होता है उन्हें जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ता है।
# उंगलियों में तिल: पैर की उंगलियों में तिल का होना भी अशुभ सूचक माना गया है। ऐसा व्यक्ति जीवन में अपनी बुद्घि से कम दूसरों की बुद्घि से काम करता है। पैर के अंगूठे में तिल का होना शुभ होता है। वह समाज में प्रतिष्ठा प्राप्त करता है।
# कूल्हे पर तिल: जिनके कूल्हे पर तिल का निशान होता है उन्हें आर्थिक मामलों में अधिक मामलों में अधिक सावधान रहना चाहिए क्योंकि ऐसा तिल धन हानि करवाता है।
# कलाई: कलाई पर स्थित तिल शुभ फलदायी नहीं होता है। जिनकी कलाई पर तिल होता है उन्हें जेल की यात्रा करनी पड़ सकती है।

Check Also

Vinayaka Chaturthi : आज है ‘विनायक चतुर्थी’, जानिए पूजा विधि और महत्व

हमारे हिंदू संस्कृति में भगवान गणपति की सर्वप्रथम पूजा की जाती है. ये हमेशा से …