मौत के आंकड़ों में खेल से रिकवरी फेल:कोरोना को मात देने वाले 24 घंटे में हो गए मौत के शिकार; स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा भी निकला झूठा

प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar

प्रतीकात्मक तस्वीर।

बिहार में कोरोना से मौत के आंकड़ों में बदलाव से पूरी गणित बदल गई है। रिकवरी से मौत तक के आंकड़ों में बदलाव है। 24 घंटे में कोरोना को मात देने वाले 2837 लोगों को मौत का शिकार बता दिया गया। 3951 नई मौत के आंकड़ों को 24 घंटे में एड करने के कारण ऐसा हुआ है, जिसके बाद भी रिकवरी का रेट भी प्रभावित नहीं हुआ है। आंकड़ों के एडजेस्टमेंट में बिहार ही नहीं पूरे देश की गणित गड़बड़ाई है जिससे अब हर स्टेट में बिहार में होने वाली मौत का आंकड़ा सुधारा जाएगा। डाटा बेस पर होने वाले रिसर्च के भी 3951 मौत के कारण प्रभावित होने की बात से इनकार नहीं किया जा सकता है।

पहली बार ऐसा हुआ जब ठीक होने वालों की संख्या घटी

बिहार में पहली बार ऐसा देखा गया है जब कोरोना को मात देने वालों की संख्या में कमी आई है। 8 जून को बिहार में संक्रमण को मात देने वालों की संख्या 7,01,234 थी जो 9 जून को 24 घंटे में ही घटकर 6,98,397 हो गई। इस 24 घंटे में 2837 लोगों का नाम ठीक होने वाली सूची से बाहर हो गया। इस दौरान संक्रमित होने वालों की संख्या 8 जून को कुल संक्रमितों की संख्या 7,14,590 थी, जो 9 जून को 7,15,179 हो गई। इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि क्या ठीक होने वाले ही मौत के शिकार हो गए है।

3951 मौत के बाद भी रिकवरी रेट बेअसर

रिकवरी रेट को लेकर तरह तरह के दावे किए जा रहे थे। बताया जा रहा था कि बिहार में कोरोना को मात देने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके बाद 3951 मौत के आंकड़े एड होने के बाद भी इस पर कोई बड़ा असर नहीं पड़ा है। 9 जून को रिकवरी रेट 97.65% रहा। इसके बाद 10 जून को भी रिकवरी रेट में कोई विशेष अंतर नहीं पड़ा। रिकवरी रेट 10 जून को भी 97.72% रहा।

एक्टिव मामलों के आंकड़ों में भी तेजी से उतार चढ़ाव

एक्टिव मामलों में भी तेजी से उतार चढ़ाव देखने को मिला है। 7 जून को बिहार में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 8230 थी जो 24 घंटे बाद 8 जून को 7897 हो गई। यह आंकड़े 9 जून को 7353 हो गए और 10 जून को 6895 पहुंच गए। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि जिन मरीजों को एक्टिव दिखाया जा रहा था उसमें भी कई लोगों की मौत हो गई जो बाद में सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज किए गए। 3951 लोगों की मौत का आंकड़ा रिकवर लोगों में ही एडजेस्ट किया गया है।

नए बढ़े नहीं एक्टिव और ठीक होने वालों से हुई भरपाई

कोरोना से 3951 मौत के आंकड़ों को एक्टिव और ठीक होने वालों की संख्या से एडजेस्ट किया गया है। क्योंकि नए मामलों में कोई विशेष बढ़ोत्तरी नहीं सामने आई है। 7 जून को कुल संक्रमितों की संख्या 713879 थी जो 8 जून को 714590 हो गई। अब 9 जून को जिस दिन मौत के नए आंकड़े सामने आए उस दिन यह संख्या 715179 रही। वहीं एक्टिव मामलों की संख्या में उतार चढ़ाव देखा गया। 7 जून को बिहार में 762 और 8 जून को 711 नए मामले आए। 9 जून को संक्रमण के नए 589 थे जबकि 10 जून को 551 रहे।

10 जून को बिहार में कोरोना

10 जून को राज्य में 1,06,483 लोगों की कोरोना की जांच हुई जिसमें 551 लोग संक्रमित पाए गए। 551 लोगों के संक्रमित होने के बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा राज्य में 7,15,730 हो गई जिसमें ठीक होने वालों की संख्या 6,99,382 हो गई। इस दौरान मौत का आंकड़ा 9452 हो गया। 10 जून को बिहार में 23 लोगों की मौत हुई है जबकि पटना में इलाज के दौरान मरने वालों की संख्या 4 रही।

 

खबरें और भी हैं…
NEWS KABILA

Check Also

‘रोते सैंया’ में भोजपुरी के साथ पंजाबी फ्लेवर भी:सलीम-सुलेमान के बाद अब पंजाबी सिंगर के साथ आया पटना के केशव त्यौहार का नया गाना, 10 दिन में टॉप प्लेलिस्ट में छाया

  केशव बिहार के भोजपुरी फोक के प्रति लोगों का नजरिया बदलने की कोशिश कर …