मोती महल का घेराव करने पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटे अध्यापक, 100 से अधिक थानों में बंद

पटियाला/सनौर  :मोती महल का घेराव करने गए बेरोजगार अध्यापकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया और भगा-भगा कर पीटा जिस कारण दो दर्जन से अधिक अध्यापक घायल हो गए। पुलिस ने 100 से अधिक अध्यापकों को विभिन्न थानों में डाल दिया। पुलिस ने महिला अध्यापकों को भी नहीं बख्शा।

बेरोजगार अध्यापकों के 5 संगठनों के कार्यकत्र्ता कैप्टन सरकार के विरुद्ध रोष मार्च करते हुए मोती महल के घेराव हेतु आगे बढ़ रहे थे, जिनको रोकने के लिए पुलिस ने वाई.पी.एस. चौक में बैरीकेडिंग की हुई थी। जब बेरोजगार अध्यापकों ने बैरीकेड तोडऩे की कोशिश की तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। बेरोजगारों को पुलिस ने घसीट कर बसों में डालना चाहा तो बेरोजगार बसों के आगे लेट गए।

इस मौके पर बेरोजगार ई.टी.टी. पास अध्यापकों ने भी मोती महल की ओर रोष मार्च किया। पुलिस बेरोजगार ई.टी.टी. टैट पास अध्यापक की भी पिटाई की। याद रहे कि गत 80 दिनों से एक बेरोजगार ई.टी.टी. टैट पास अध्यापक भीषण गर्मी में टावर पर डटा हुआ है। इस दौरान माहौल तनावपूर्ण बना हुआ था और बेरोजगार अध्यापक मुख्यमंत्री के साथ मीटिंग के लिए अड़े हुए थे।

NEWS KABILA

Check Also

ताबड़तोड़ फायरिंग से दहला गांव:जमीनी विवाद में चचेरे भाई की हत्या; आरोपी कत्ल केस में फरार चल रहा, गाड़ियों में सवार होकर आए थे हमलावर

  मृतक और आरोपी के बीच जमीन को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा …