मेरठ के एक फॉर्म हाउस पर चोरी करने पहुंचा चोर, फिर ऐसा कुछ हुआ कि मालिक ने नौकरी पर रखा

 

 

 

मेरठ: मेरठ में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे. एक चोर ने पहले घर में चोरी की और जब चोरी का सामान लेकर भागने लगा तो अचानक उसका मन बदल गया. उसे चोरी करना ठीक नहीं लगा. चोरी करने गए चोर का मन ऐसे अचानक बदला कि वह चोरी किया हुआ सामान माफी के साथ लौटा देता है.

 

अब आप भी सोच रहे होंगे कि ऐसा क्या हुआ. तो आपको बता दें मेरठ के मोदीपुरम में रालोद के जिलाध्यक्ष राहुल देव का एक फॉर्म हाउस है और चोर ने उसी फॉर्म हाउस से हजारों का सामान चोरी करने के बाद माफी के साथ सामान लौटा दिया. फिर अपनी आर्थिक स्थित का हवाला देते हुए जिलाध्यक्ष से नौकरी भी मांग लेता है. और संयोग देखिए कि चोर के पश्चताप को देखते हुए राहुल देव ने भी उसे उसी फॉर्म हाउस के लिए नौकरी पर रख लिया, जिसमे वो चोरी करने गया था.

 

पुलिस में की हुई शिकायत वापस ली
राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष राहुल देव का पल्लवपुरम में NH-58 पर नारायण नाम से फॉर्महाउस है. राहुल के फॉर्म हाउस में कुछ दिन पहले हजारों रुपए की चोरी हुई थी जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस से की थी लेकिन जब चोरी के बाद चोर खुद उनके पास चोरी का सामान लेकर पहुंचा और माफी मांगने लगा तो उनका दिल पसीज गया. उन्होंने पुलिस में की हुई शिकायत वापस ले ली और चोर को अपने फॉर्म हाउस में नौकरी पर रख लिया.

 

आखिर क्यों बदल गया चोर का मन
लेकिन अभी भी सवाल बरकरार था कि आखिर चोर का ह्रदय परिवर्तन हुआ कैसे तो जिलाध्यक्ष राहुल देव ने बताया कि उन्होंने जब आरोपी से ह्रदय परिवर्तन का कारण पूछा तो आरोपी रोने लगा. आरोपी ने बताया कि बेरोजगारी के कारण आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई थी और परिवार के पास राशन के पैसे भी नहीं थे तो उसने चोरी का रास्ता चुना. लेकिन जब वो चोरी करने के बाद घर पहुंचा तो उसे लगा कि उसने बहुत बड़ी गलती की है जो माफी के काबिल नहीं. उसने निर्णय किया कि चोरी का सारा सामान वापस कर माफी मांगेगा और इगले दिन ऐसा ही किया.

 

इस घटना ने एक बात तो साफ कर दी है कि अगर अपनी गलती का पछतावा इंसान को हो जाए तो उसे सत्य का मार्ग अपने आप दिखने लगता है

Check Also

ऑफलाइन क्लास शुरू करने को लेकर इविवि के छात्रों ने किया प्रदर्शन

      प्रयागराज: इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अलग-अलग छात्र संगठनों ने मिलकर परिसर बहाली मंच का …