मेयर के विरोध के बीच श्री पब्लिकेशन देगी हाेल्डिंग नंबर और ट्रेड लाइसेंस, 2 लाख घराें से वसूला जाएगा हाेल्डिंग टैक्स

 

पिछले दाे माह से हाेल्डिंग नंबर और ट्रेड लाइसेंस नहीं बनने से लाेग परेशान थे। (फाइल)

  • रांची नगर निगम और डाेरंडा निगम कार्यालय के जन सुविधा केन्द्र पर जमा हाेंगे आवेदन, कंपनी के टैक्स कलेक्टर घर-घर भी जाएंगे

मेयर आशा लकड़ा के विरोध के बीच साेमवार से शहर 53 वार्डाें में स्थित करीब 2 लाख घराें से श्री पब्लिकेशन हाेल्डिंग टैक्स वसूलेगी। हाेल्डिंग टैक्स लेने के लिए कंपनी के टैक्स कलेक्टर घर-घर जाएंगे। रांची नगर निगम और डाेरंडा निगम कार्यालय में स्थित जन सुविधा केन्द्र भी खुलेंगे। इन केन्द्राें पर लाेग ट्रेड लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकेंगे।

पिछले दाे माह से हाेल्डिंग नंबर और ट्रेड लाइसेंस नहीं बनने से लाेग परेशान थे। अब ऐसे लाेगाें काे भी राहत मिलेगी। हाेल्डिंग टैक्स वसूलने के लिए श्री पब्लिकेशन ने रविवार काे टैक्स कलेक्टराें के साथ बैठक की। इसमें अधिकतर कर्मचारी पहले से काम कर रही कंपनी स्पैराे के ही हैं। उन्हें नया यूनिफाॅर्म दिया गया। टैक्स कलेक्टराें काे वार्ड भी आवंटित किया गया, ताकि वे अपने क्षेत्र में टैक्स कलेक्शन का काम शुरू कर सकें।

स्पैराे साॅफ्टटेक का डेटा कंपनी काे किया गया ट्रांसफर
रांची नगर निगम क्षेत्र में स्थित सभी घराें, व्यवसाय और वाटर कनेक्शन का डेटा श्री पब्लिकेशन काे ट्रांसफर किया गया है। नगर आयुक्त द्वारा कंपनी काे काम करने का निर्देश दिए जाने के बाद से डेटा ट्रांसफर का काम शुरू हाे गया था। अब यह काम अंतिम चरण में है। सभी वार्ड का डेटा आने के बाद वित्तीय वर्ष 2020-21 के हाेल्डिंग टैक्स की वसूली में तेजी आएगी। टैक्स वसूली में तेजी आने के बाद निगम की आर्थिक स्थिति भी सुदृढ़ हाेगी। फंड आने के बाद सड़क-नाली, साफ-सफाई में भी तेजी आएगी।

हाेल्डिंग व ट्रेड लाइसेंस के 2 हजार से अधिक आवेदन पेंडिंग
हाेल्डिंग नंबर और ट्रेड लाइसेंस के 2 हजार से अधिक आवेदन पेंडिंग है। 12 अगस्त के बाद से हाेल्डिंग नंबर और ट्रेड लाइसेंस बनाने का काम बंद है। ऐसे में ऑनलाइन जिन लाेगाें ने आवेदन किया है। उनके आवेदन पर निगम ने काेई कार्रवाई नहीं की। इस वजह से जमीन-फ्लैट की रजिस्ट्री की संख्या 50 फीसदी तक घट गई। वहीं सैकड़ाें लाेग नया व्यवसाय शुरू करने के लिए लाेन के लिए आवेदन नहीं कर पाएं थे क्याेंकि उनके पास ट्रेड लाइसेंस नहीं था।

 

Check Also

गुमला में छोटे ने बड़े भाई की पत्थर से कूचकर की हत्या, दोनों में हुआ था विवाद

मृतक की पहचान 55 वर्षीय रोपना प्रधान के रूप में की गई। विवाद के बाद …