मृत्यु के समय रावण की उम्र कितनी थी और रावण का गोत्र कौन सा था?

ये उत्तर अतिमानव की परिकल्पना से अलग सामान्य परिस्थितियों के आढ़ार पर अनुमानित है. राम के जन्म (अवतार) लेने के समय रावण की अनुमानित उम्र लगभग 35–40 वर्ष होगी. ये मॉन लें रावण ने 15–20 वर्ष की आयु में (पन्द्रह मानकर) 5 साल तप किया होगा.20–25-वर्ष की आयु में विजय अभियान शुरू किया होगा 5–10वर्ष उत्पात मचाया होगा.

राम 15–20–25 वर्ष की आयु में वन गए होंगे.13 वर्ष बाद युद्ध हुआ जिसमें रावण मारा गया.इस तरह मृत्यु के समय उसकी उम्र 35+ 25+ 13 अर्थात लगभग 70और 75 वर्ष के बीच रही हो सकती है.

उसके स्वयं का पुत्र मेघनाद तक युवा एवम विवाहित था. इस तरह यदि वह अत्याचारी था तो लगभग 40 वर्ष तक निर्बाध अत्याचार करता रहा.यदि राम न भी मारते तो भी कुछ वर्षों में अपने आप मर जाता.मेघनाद को भी राज्य मिलना था. उधर विभीषण भी अंदरूनी तौर पर असंतुष्ट था और मौके के ििनतज़ार में था

Check Also

21 मार्च को होने वाली WBPSC हुई स्थगित, जारी किया नोटिस

पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनाव (Elections) के कारण पश्चिम बंगाल लोक सेवा आयोग(WBPSC)  ने …