मुख्यमंत्री ने ब्लड कॉम्पोनेंट सेपरेशन यूनिट का किया शिलान्यास

मेदिनीनगर, 14 जून (हि.स.)। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सोमवार को विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर पलामू के लिए ब्लड कॉम्पोनेंट सेपरेशन यूनिट का वर्चुअल शिलान्यास किया। जिले में सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक परिसर से विश्व रक्तदाता दिवस के अवसर पर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

 इस वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से पलामू सहित शेष पांच जिलों में अधिष्ठापित किए जाने वाले ब्लड सेपरेशन इकाई के शिलापट्ट का अनावरण किया गया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पलामू में मौजूद रक्तदाता श्याम नामधारी से बात की। 20 वर्षीय श्याम जी नामधारी ने बताया कि उन्होंने आज तीसरी बार ब्लड डोनेट किया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा ऑनलाइन ब्लड डोनेशन सर्टिफिकेट प्रदान करने का फैसला काफी उत्साहजनक है। मुख्यमंत्री ने श्याम को रक्तदान करने के लिए बधाई दी साथ ही साथ और लोगों को इस नेक कार्य के लिए प्रेरित करने हेतु अपील की।
 कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा संकल्प है कि हमारे राज्य में किसी की मौत खून की कमी से ना हो। इस दिशा में सरकार निरंतर कार्य कर रही है। इसके लिए अभियान चलाकर लोगों को प्रेरित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से पूरे राज्य में ब्लड की कमी नहीं होगी तथा मरीजों को आवश्यकता अनुसार ब्लड उपलब्ध कराया जा सकेगा।
 मौके पर मौजूद स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि इंसान ही इंसान के लिए खून उपलब्ध कराता है। झारखंड एक ट्राइबल स्टेट है लेकिन हमारी सोच काफी वृहद है। इसी सोच का कारण है कि हम कोविड के हर वैरीअंट का सामना करने में सफल रहे। ब्लड कॉम्पोनेंट्स सेपरेशन यूनिट राज्य के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने आम जनों से अपील की और कहा कि वे समय-समय पर ब्लड डोनेट करें।  इसके साथ ही मुख्यमंत्री राज्य एड्स नियंत्रण समिति के यूट्यूब चैनल का प्रमोचन तथा डिजिटल प्रमाण पत्रों का वितरण किया गया ।
 इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान हेतु झारखंड विशिष्ट कैलेंडर का भी शुभारंभ किया गया। इधर, एमएमसीएच, पलामू में कोविड को देखते हुए सादे समारोह में उपायुक्त शशि रंजन ने 8 रक्तदाताओं को ब्लड डोनेशन सर्टिफिकेट सौंपा। उपायुक्त ने रक्तदाताओं से इसी तर्ज पर आगे आकर ब्लड डोनेट करने की अपील की।
 हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

बोकारो कोर्ट का फैसला:रिश्ता शर्मसार करने वाले सौतेले मामा को 30 साल की जेल, एक लाख का जुर्माना भी; नाबालिग भांजी से किया था दुष्कर्म

  कोर्ट ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म के आरोपी को 30 साल के सश्रम कारावास …