मुक्तिधाम में तांत्रिक क्रिया !:महिला के अंतिम संस्कार के अगले दिन अस्थियां गायब, पास में आलपिन लगा नींबू, काले कपड़े और शराब की बोतल मिली, परिजन ने किया हंगामा

कोटा के महावीर नगर इलाके के सुभाष नगर स्थित मुक्तिधाम में तांत्रिक क्रिया का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। महिला के अंतिम संस्कार के बाद सोमवार को जब परिजन अस्थियां लेने पहुंचे तो वह नहीं मिली। इतना ही नहीं, जहां अंतिम संस्कार किया गया था, उसके पास ही आलपिन लगे नींबू, काले कपड़े और शराब की बोतल मिली है। साथ ही एक पुतला भी मिला है। अस्थियां गायब देखकर परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने महावीर नगर थाना पुलिस को सूचना दी। परिजनों ने मुक्तिधाम में तांत्रिक की आशंका व्यक्त की है।

कल हुआ था महिला का अंतिम संस्कार

मृतक विमला (56) पत्नी चन्द्रशेखर रंगबाड़ी इलाका निवासी थी। चन्द्रशेखर पोस्ट ऑफिस में सर्विस करते थे। साल 2016 में रिटायर्ड हुए हैं। उनके एक बेटा (24 साल) पढ़ाई करता है। शनिवार को चन्द्रशेखर की पत्नी की मौत हुई थी। सोमवार को तीये की क्रिया होनी थी। परिजन सुबह साढ़े 9 बजे मुक्तिधाम पहुंचे। तो मुक्तिधाम में मृतका की अस्थियां गायब देख उनकी आंखें फटी रह गईं। महिला के भतीजे नवीन ने बताया की मुक्तिधाम में अस्थियां इधर-उधर बिखरी पड़ी थी। जब चेक किया तो सिर, चेस्ट और पैरों की अस्थियां गायब थी। आसपास तांत्रिक क्रियाओं का सामान पड़ा हुआ था। जिनमें अंडा, एक 7-8 इंच का काले रंग का कपड़े का पुतला, नींबू, एक कटोरों में काला कपड़ा रखा हुआ था। नवीन ने बताया की उनके परिवार की किसी से रंजिश नहीं है। अफसोस इस बात का है कि ताई जी की अस्थियां चली गई। परिजनों ने पुलिस और स्थानीय पार्षद को सूचना दी। सूचना मिलने के बाद स्थानीय पार्षद कमलकांत शर्मा मौके पर पहुंचे।

मुक्तिधाम परिसर में आलपिन लगे नींबू,काले कपड़े और शराब की बोतल मिली। साथ ही एक पुतला भी मिला।

मुक्तिधाम परिसर में आलपिन लगे नींबू,काले कपड़े और शराब की बोतल मिली। साथ ही एक पुतला भी मिला।

पार्षद कमल ने बताया कि मुक्तिधाम परिसर में असामाजिक तत्वों का जमावड़ा रहता है। यहां शराब की बोतलें भी मिली हैं। पुलिस को जानकारी दी है। इधर, महावीर नगर थाना ASI ने बताया कि कुछ अस्थियां गायब मिली हैं। पास में शराब की बोतलें भी मिली हैं। ये जांच का विषय है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है।

मुक्तिधाम से अस्थियां गायब होने के मायने

इस बारे कोटा में भविष्यवक्ता वाणी गुरु का कहना है कि गुप्त नवरात्रि में अस्थियां गायब होने का मतलब यह है कि वहां तांत्रिक क्रियाएं की गई है। रविवार को गुप्त नवरात्रि की पूर्णाहुति थी। संभवत शक्ति प्राप्ति के लिए अर्धरात्रि में हवन किया गया होगा। अक्सर बड़े दिनों में जैसे चोहदस,अमावस्या पर तांत्रिक ऐसे पूजा करते हैं।

 

Check Also

Bank of Baroda की पैसों को डबल करने वाली स्कीम, 1000 रुपये से करें शुरू

पैसे निवेश करने के लिए हम बेहतर से बेहतर विकल्प की तलाश करते हैं. निवेश …