मुंबई में 12 साल के बच्चे की दर्दनाक मौत:बिजली की तारों को छू रही थी लोहे की सीढ़ी; बच्चे ने जैसे ही छुआ, पूरे शरीर में लग गई आग

 

सोमवार सुबह ऐरोली में एक 12 साल के बच्चे की बिजली की करंट लगने से मौत हो गई। लड़का सड़क किनारे रखी हुई लोहे की एक सीढ़ी के संपर्क में आया था। यह सीढ़ी बिजली के तार को छू रही थी। इसमें दौड़ते हाई वोल्टेज करेंट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुछ ही सेकंड में लड़के की बॉडी में आग लग गई और उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

करंट लगते ही बच्चे की मौके मौत

करंट लगते ही बच्चे की मौके मौत

ऐसे हुई दुर्घटना
रबाले पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक योगेश गावड़े ने कहा कि लड़के की पहचान नहीं की जा सकी है। यह माना जा रहा है कि वह फुटपाथ पर ही रहता था। घटना सोमवार सुबह लगभग ऐरोली के सेक्टर 7 में 8.52 बजे शिव शंकर प्लाजा 2 में दुकान नंबर 7 के सामने हुई है। यह घटना मौके पर लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई। वीडियो के आधार पर पुलिस ने एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट (ADR) दर्ज कर ली है।

घटना के बाद मौके पर पहुंचे बिजली विभाग के कर्मचारी सीढी को हटाते हुए।

घटना के बाद मौके पर पहुंचे बिजली विभाग के कर्मचारी सीढी को हटाते हुए।

योगेश गावड़े ने बताया, मृतक के परिवार का कोई पता नहीं चला है। हम उसकी तलाश कर रहे हैं। यह भी जांच की जा रही है की लोहे की इतनी बड़ी सीढ़ी वहां क्यों रखी गई थी। अगर इसमें किसी की लापरवाही हुई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कंप्लेंट दर्ज करवाई गई
सोशल एक्टिविस्ट बापू पोल ने बताया कि बच्चा ट्रैफिक सिग्नल पर खिलौने बेचता था। सीढ़ी को इस तरह से रखना एक बड़ी लापरवाही है। हमने इस संबंध में एक शिकायत दर्ज करवाई है। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होनी ही चाहिए।

बिजली कंपनी की सफाई
मुंबई में इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई करने वाली MSEDCL द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, 21 फरवरी को दिवा फीडर पर दिवा गांव में, लेंसकार्ट शॉप के सामने रखी सीढ़ी को किसी ने धकेल कर बिजली के तारों से टच करवा दिया था। जिसके बाद उसमें 11KV का करेंट दौड़ रहा था। 22 फरवरी को सुबह 8.52 बजे दिवा फीडर ट्रिप हो गया। पीड़ित ने सीढ़ी के खंभे को पकड़ रखा था और उसने कोई चप्पल नहीं पहनी थी, इसलिए बच्चे को शॉक लगा।

 

Check Also

आम लोगों को 1 मार्च से कोरोना का टीका:राजधानी में आयुर्वेद और आरोग्य अस्पतालों में मुफ्त सरकारी टीके, दोनों जगह रोज 100-100 डोज, रजिस्ट्रेशन भी वहीं

  फाइल फोटो। पहचानपत्र ले जाना होगा, एप वगैरह की जरूरत नहीं राजधानी में सरकारी …