मामला दर्ज:हवालाती को तीन मोबाइल, पांच सिम कार्ड और चार्जर देने जा रहा था जेल वार्डन, ड्योढ़ी पर तलाशी में पकड़ा

 

  • केंद्रीय जेल में हवालाती को मोबाइल पहुंचाने में जेल वार्डन की संलिप्तता आई सामने, मामला दर्ज

केंद्रीय जेल में बंद कैदियों और हवालातियों तक मोबाइल व नशा पहुंचाने में जेल कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आ रही है। हालांकि जेल प्रशासन की ओर से कर्मचारियों की इस तरह की हरकतें सामने आने के बाद उनकी तलाशी व जांच के बाद ही उन्हें ड्यूटी पर भेजा जा रहा है बावजूद इसके कर्मियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह पैसों के लालच में इस तरह की प्रतिबंधित चीजाें को जेल पहुंचाने से बाज नहीं आ रहे हैं।

ताजा मामले में केंद्रीय जेल में वार्डन के तौर पर तैनात पुलिस कर्मी एक व्यक्ति से 15 हजार रुपए लेकर जेल में हवालाती को तीन मोबाइल फोन टच स्क्रीन, 5 सिम कार्ड, दो चार्जर अडॉप्टर सहित तीन डाटा केबल और दो हैडफोन पहुंचाने के लिए लेकर जेल में ड्यूटी पर अंदर जाने लगा। जब ड्योढ़ी पर उसकी तलाशी ली तो उसके बैग से एक टेप में लिपटा पैकेट बरामद हुआ जिससे यह सामान बरामद हुआ। सामान की बरामदगी के बाद आरोपी पुलिसकर्मी को गिरफ्तार कर लिया गया तथा थाना सिटी पुलिस को कार्रवाई के लिए लिखा गया। पुलिस ने आरोपी जेल वार्डन के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

हवालाती अमरीक सिंह एनडीपीएस एक्ट के तहत एक मामले में हैं बंद- आरोपी वार्डन गुरमीत सिंह ने पूछताछ में बताया कि उसे मनु नामक एक व्यक्ति ने उक्त सामान दिया था अौर इसे जेल में पहुंचाने की एवज में उसे 15 हजार रुपए मिले थे। उसने यह सामान जेल में बंद हवालाती अमरीक सिंह को पहुंचाना था जोकि एनडीपीएस एक्ट में एक मामले में बंद है। वार्डन ने बताया कि वह उक्त सामान अपने किट बैग में डालकर जेल के अंदर लेकर जा रहा था कि तलाशी के दौरान वह पकड़ा गया।

टावर नंबर 1 पर थी वार्डन गुरमीत सिंह की ड्यूटी –ताजा मामले में जेल के सहायक सुपरिंटेंडेंट जरनैल सिंह ने पुलिस को दी लिखित शिकायत में बताया कि 19-20 फरवरी की रात 10 से 2 बजे तक जेल के टावर नंबर एक पर वार्डन गुरमीत सिंह नंबर 2656 की ड्यूटी थी। इस दौरान जब उसने ड्यूटी पर जाने के लिए अंदर प्रवेश किया तो ड्योढ़ी पर उसकी तलाशी ली गई तो उसके बैग में से एक पार्सल में तीन मोबाइल फोन टच स्क्रीन, 5 सिम कार्ड, दो चार्जर अडॉप्टर सहित तीन डाॅटा केबल और दो हैड फोन बरामद हुए। मामले की जांच कर रहे थाना सिटी के एएसआई रमन कुमार ने बताया कि पुलिस ने जेल वार्डन गुरमीत सिंह के खिलाफ 52-ए पर्सिनंज एक्ट सहित अन्य धाराओं के तहत के मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

दो साल में पकड़े गए नशीले पदार्थ और मोबाइल-

27 जनवरी 2020 : पति से मुलाकात करने आई महिला उसे नशीले पदार्थ दे गई तो जब मुलाकात के बाद हवालाती पति सुरेश कुमार की तलाशी ली गई तो उससे 1 ग्राम नशीला पाउडर बरामद हुआ था।
17 अप्रैल 2020 : स्वास्थ्य विभाग की ओर से जेल में फार्मासिस्ट तैनात इंदरजीत सिंह ड्यूटी पर जाते समय जुराबों मे दो मोबाइल और 32 ग्राम नशीला पाउडर छुपा कर ले गया था। तलाशी में सामान बरामद हुआ जोकि उसने दो कैदियों को देना था।
25 मई 2020 : बाहर से फैंके गए एक पैकेट को जेल के पेस्को कर्मचारी रजिंदर सिंह व सरबजीत ने जेल में बंद हवालाती गोपाल चंद निवासी आवा बस्ती तक पहुंचाया था। तलाशी में हवालाती से तलाशी में 3 मोबाइल, एक सिम और 36 नशीली गोलियां बरामद हुई थीं।
10 अगस्त 2020 : जेल की छत पर ड्यूटी कर रहे सिपाही से एक मोबाइल, तीन पूड़ी जर्दा व 15 बीड़ी बरामद हुई थी।
18 अगस्त 2020 : सेहत विभाग के लैब टैक्नीशियन से 94 नशीली गोलियां बरामद हुई थीं जोकि उसने जेल में बंद शेख रियाजुद्दीन और कैदी गौरव को देनी थीं। वहीं बीते वर्ष में ही एक ओर मामले में दो पुलिस कर्मचारियों सहित चार व्यक्ति जेल में मुलाकात करने के लिए आए थे। जब जेल में उनके सामान की चैकिंग के दौरान तो तो कैरमबोर्ड से आपत्तिजनक सामान बरामद किया गया था।

 

Check Also

प्रस्ताव पारित:हाईकोर्ट जज ने वकीलों से किया आग्रह ‘माई लॉर्ड’, योर लॉर्डशिप न कहें

  पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के जज जस्टिस अरुण कुमार त्यागी ने वकीलों को उन्हें …