माफिया मुख्तार अंसारी के काले साम्राज्य पर योगी सरकार का प्रहार, अब तक 78 करोड़ की प्रॉपर्टी जब्त

मऊ: योगी सरकार का शिकंजा बाहुबली विधायक और माफिया मुख्तार अंसारी के खिलाफ कसता जा रहा है. मऊ जिला प्रशासन ने मुख्तार के आर्थिक साम्राज्य पर एक और चोट की है. बीते बुधवार को मुख्तार की एक और अवैध संपत्ति को कुर्क करने का काम किया. बता दें कि इस समय माफिया मुख्तार अंसारी इस समय बांदा जेल में बंद है.

24 करोड़ की संपत्ति कुर्क 
दरअसल, मऊ में दक्षिणटोला थाना क्षेत्र के दशई पोखरे के पास मुख्तार के बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी के नाम पर एक अवैध संपत्ति दर्ज है. बीते दिन मऊ प्रशासन ने आईएस-191 पर कार्रवाई करते हुए इस संपत्ति को कुर्क किया. यह संपत्ति 8 हजार 8सौ 80 वर्गमीटर क्षेत्र में फैली है. जिला प्रशासन के मुताबित इसकी कीमत 24 करोड़ रुपये है.

 

जानकारी के मुताबिक, मुख्तार ने यह प्रॉपर्टी अपनी मां के नाम पर खरीदी थी. इसके बाद मुख्तार ने इस संपत्ति को अपने बेटों के नाम पर दर्ज करवा दिया था. वहीं, जांच में यह बात सामने आई कि यह प्रॉपर्टी मुख्तार ने अवैध तरीकों से अर्जित की थी.

 

डीएम के आदेश पर हुई कार्रवाई
वहीं, मुख्तार के खिलाफ ये अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है. कुर्की की कार्रवाई के दौरान भारी संख्या में फोर्स तैनात थी. मजिस्ट्रेट के आदेश पर अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी और सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में कुर्की की कार्रवाई की. मुख्तार का गैंगेस्टर में चालान होने के बाद पुलिस ने डीएम को रिपोर्ट भेजी थी. इसके बाद जिलाधिकारी ने 7 जून 2021 को संपत्ति जब्त करने का आदेश जारी किया था.

 

करीब 78 करोड़ की संपत्ति पर हुई कार्रवाई
जिला प्रशासन के मुताबिक मुख्तार अंसारी के ऊपर अब तक 50 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क की जा चुकी है. वहीं, करीब 28 करोड़ की संपति ध्वस्त हो चुकी है. अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी के मुताबिक मुख्तार अंसारी गैंग पर पुलिस लगातार कार्रवाई करने में जुटी हुई है.

Check Also

संत कबीरदास की शिक्षा समतामूलक समाज के निर्माण का मार्ग – योगी आदित्यनाथ

लखनऊ, 24 जून (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संत कबीरदास की जंयती …