मां की डांट से नाराज बेटे ने दी जान:मां ने मोबाइल पर गेम खेलने से किया था मना, 10वीं का छात्र कमरे में फांसी के फंदे से झूला

 

पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर शव को परिजनों के हवाले कर दिया। - Dainik Bhaskar

पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर शव को परिजनों के हवाले कर दिया।

मोबाइल पर गेम खेलने से मां ने अपने 15 वर्षीय बेटे को मना करते हुए डांटा तो इससे नाराज बेटा शिव शंकर पूर्ति ने मंगलवार रात अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यह घटना डांगुआ पोसी मुंडासाई की है। शिव शंकर गांव के ही उच्च विद्यालय में 10वीं का छात्र था। इस संबंध में पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर पोस्टमाॅर्टम कराकर शव परिजनों के हवाले कर दिया।

घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि मंगलवार शाम मां ने अपने बेटे को मोबाइल पर गेम खेलते देखा। मां ने बेटे को डांटा और गेम खेलने से मना करते हुए पढ़ाई पर ध्यान देने की बात कही। मां की बात से शिव शंकर पूर्ति नाराज हो गया और मोबाइल मां की ओर फेंकते हुए बोला, ‘यह लो तुम्हारा मोबाइल…’ और वहां से चला गया। रात को शिव शंकर भोजन किया और अपने कमरे में सोने चला गया। बुधवार सुबह जब देर तक उसके कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो मां ने दरवाजे पर दस्तक देकर बेटे को आवाज लगाई। काफी देर तक आवाज लगाने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो संदेह के आधार पर परिवार के लोगों ने सब्बल से दरवाजे की छिटकिनी तोड़ी तो अंदर रस्सी के सहारे छात्र की लाश लटक रही थी।

पुलिस आत्महत्या की हर बिंदु पर कर रही है तहकीकात
परिजनों ने शिव शंकर पूर्ति की खुदकुशी की जानकारी गांव के मुंडा को दी। फिर गांववालों ने पुलिस को खबर की। घटनास्थल पर पुलिस पहुंची और लाश को रस्सी के फंदे से नीचे उतारा। पुलिस ने कहा कि आत्महत्या की हर बिंदु पर पुलिस तहकीकात की जा रही है। पुत्र की मौत के बाद मां बार-बार रोते हुए बेहोश हो जा रही थी।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

महिला की संदेहास्पद परिस्थिति में मौत:ससुराल पक्ष के लोगों ने देर रात शव का किया अंतिम संस्कार, पुलिस ने पति और ससुर को लिया हिरासत में

हैदरनगर पुलिस मृतका के ससुर सोहराई साव और पति संजय साव को हिरासत में लेकर …