महीनेभर जेल में रहेगी पिंकी मीणा:हाईकोर्ट में जमानत याचिका वापस ली ; शादी के लिए अंतरिम जमानत ले चुकी थी इसलिए रेगुलर बेल पाने का आधार नहीं

 

ACB जयपुर की टीम ने 13 जनवरी को SDM बांदीकुई पिंकी मीणा को रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

ACB जयपुर की टीम ने 13 जनवरी को SDM बांदीकुई पिंकी मीणा को रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था। (फाइल फोटो)

  • बांदीकुई SDM रहते हुए पिंकी मीणा पर 10 लाख की रिश्वत मांगने का है आरोप
  • 16 फरवरी को शादी के लिए हाईकोर्ट ने दी थी 10 दिन की अंतरिम जमानत

दौसा जिले में 10 लाख की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार RAS पिंकी मीणा को जेल में ही रहना होगा। उसकी जमानत पर सोमवार को हाईकोर्ट की जयपुर बेंच में सुनवाई हुई। जिसमें बचाव पक्ष के वकील ने मामले में आरोप पत्र पेश होने के बाद जमानत अर्जी पेश करने की छूट मांगते हुए जमानत अर्जी को वापस लेने की अनुमति मांगी। इस पर अदालत ने अनुमति देते हुए जमानत अर्जी को खारिज कर दिया।

न्यायाधीश इंद्रजीत सिंह की एकल पीठ में बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि एसीबी के पास पिंकी मीणा के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है। इस केस में ना तो पिंकी मीणा से रिकवरी हुई है, ना ही कोई डिमांड की गई है। उसे गलत फंसाया जा रहा है। दूसरी तरफ सरकारी वकील ने कहा कि एसीबी के पास रिश्वत मांगने की रिकॉर्डिंग मौजूद है। जमानत पर बाहर आने पर वह गवाहों को प्रभावित कर सकती है।

​16 फरवरी को पिंकी की शादी जयपुर में हुई थी, जिसके लिए हाईकोर्ट ने 10 दिन की अंतरिम जमानत दी थी। ऐसे में अब उसके पास रेगुलर बेल पाने का आधार नहीं था। यही वजह जमानत याचिका वापस लेने की मानी गई। चूंकि इसी मामले में गिरफ्तार एक अन्य अफसर की जमानत याचिका भी पहले ही खारिज हो चुकी है। इससे भी याचिका खारिज होने की संभावना ज्यादा थी। अंतरिम जमानत अवधि पूरी होने पर 21 फरवरी की शाम पिंकी ने जयपुर महिला जेल में सरेंडर किया था। हाईकोर्ट ने 10 दिन की अंतरिम जमानत देने के साथ ही अगली सुनवाई की तारीख 22 फरवरी तय की थी।

जमानत अवधि खत्म होने पर पिंकी मीणा ने रविवार को वापस जेल में सरेंडर कर दिया।

जमानत अवधि खत्म होने पर पिंकी मीणा ने रविवार को वापस जेल में सरेंडर कर दिया।

13 जनवरी को किया था गिरफ्तार
RAS पिंकी मीणा पर भारत माला परियोजना में सड़क बनाने वाली एक कंपनी से SDM बांदीकुई पद पर रहते हुए 10 लाख रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप है। कंपनी की शिकायत पर ACB जयपुर की टीम ने 13 जनवरी को SDM दौसा पुष्कर मित्तल को 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा था। वहीं, पिंकी मीणा को 10 लाख रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया था। बाद में उसे निलंबित कर दिया गया था।

तत्कालीन दौसा एसपी व दो दलाल भी हो चुके हैं गिरफ्तार
ACB ने 13 जनवरी को दलाल नीरज मीणा और 16 फरवरी को एक अन्य दलाल गोपाल सिंह को गिरफ्तार किया था। ACB की पड़ताल में सामने आया था कि नीरज और गोपाल तत्कालीन दौसा एसपी मनीष अग्रवाल के लिए दलाली कर रिश्वत की रकम वसूला करते थे। दौसा के इस घूसकांड में ACB एसपी मनीष अग्रवाल को भी गिरफ्तार कर चुकी है। वे भी जयपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं। उनकी ACB कोर्ट में जमानत याचिका खारिज हो चुकी है।

कानूनविद बोले- जमानत के लिए ग्राउंड नहीं होने से लिया यू-टर्न
कानूनविदों ने पिंकी मीणा के जमानत आवेदन को वापस लेने पर कहा कि पिंकी को अभी जमानत मिलने का कोई आधार नहीं था। मामले में गिरफ्तार अन्य अफसर पुष्कर मित्तल की जमानत याचिका पहले ही हाईकोर्ट से खारिज हो चुकी थी। इससे पहले, पिंकी मीणा को शादी के लिए अंतरिम जमानत मिल चुकी है, ऐसे में अब नियमित जमानत पाने का ग्राउंड मजबूत नहीं था। चार्जशीट फाइल होने के बाद ही अब जमानत मिल सकती है। एसीबी को इस प्रक्रिया में महीने भर के आसपास का वक्त लगेगा, तब तक पिंकी मीणा जेल में ही रहेगी।

 

Check Also

युवक ने चंबल नदी में कूदकर आत्महत्या की, ठेकेदार ने विद्युत परियोजना में काम देने के बदले 15 हजार मांगें थे

चित्तौड़गढ़ :  जिले के रावतभाटा में रविवार सुबह करीब 6 बजे एक युवक ने चंबल …