महागठबंधन के घोषणापत्र की 8 बड़ी बातें, CM फेस तेजस्‍वी यादव बोले- सरकार बनते ही 10 लाख नौकरियां

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है। आरजेडी, कांग्रेस और वामदलों के मोर्चे ने दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में घोषणापत्र जारी किया। घोषणापत्र में वायदों की झड़ी देखी जा सकती है। नेता प्रतिपक्ष और आरजेडी की ओर से सीएम फेस के दावेदार तेजस्वी यादव ने एक बार फिर सरकार बनने पर 10 लाख बेरोजगार युवाओं को नौकरियां देने की घोषणा की।

घोषणापत्र की 8 बड़ी बातें  
#1. सरकार बनते ही 10 लाख बेरोजगारों को नौकरियां देंगे
#2. रोजगार के लिए आवेदन करने वालों की फीस माफ, परीक्षा केंद्र तक का किराया भी देंगे
#3. नियोजित शिक्षकों को समान काम पर समान वेतन देंगे
#4. रोजगार के लिए दूसरे राज्यों मेन बिहार से पलायन रोकेंगे
#5. जीविका दीदी को नियमित वेतन के साथ वेतन वृद्धि करेंगे
#6. किसानों के कर्जे माफ करेंगे
#7. बंद पड़ी चीनी और जूट मिलों को शुरू करने की कोशिश करेंगे
#8. केंद्र सरकार के तीनों नए कृषि कानून खत्म करेंगे

महागठबंधन के घोषणापत्र की 8 बड़ी बातें, CM फेस तेजस्‍वी यादव बोले- सरकार बनते ही 10 लाख नौकरियां

बिहार चुनाव, हिंदू-मुसलमान का चुनाव 
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा- “अब तक केंद्र की टीम ने आकर नहीं देखा कि बाढ़ से कितने लोग प्रभावित हुए, ऐसा लग रहा है कि बस कुर्सी पाने की होड़ में सब लोग लगे हुए हैं। लोग बड़ी-बड़ी बातें करते हैं कि मेरा काम सेवा का है, मेवा का नहीं है लेकिन मेवा के लिए बिहार में 60 घोटाले हुए हैं।” कांग्रेस नेता, रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा- ये चुनाव नई दशा बनाम दुर्दशा का चुनाव है, ये चुनाव नया रास्ता और नया आसमान बनाम हिन्दू-मुसलमान का चुनाव है, ये चुनाव नए तेज बनाम फेल तजुर्बे की दुहाई का चुनाव है, ये चुनाव खुद्दारी और तरक्की बनाम बंटवारा और नफरत का चुनाव है।

सरकार बनते ही खत्म करेंगे तीनों किसान बिल 
तेजस्वी यादव ने कहा- “बिहार में डबल इंजन की सरकार है। पिछले 15 साल से नीतीहस कुमार राज्य में सरकार चला रहे हैं। लेकिन अभी तक राज्य को विशेष दर्जा नहीं दिया जा सका। इसके लिए डोनल्ड ट्रम्प तो नहीं आएंगे।” सुरजेवाला ने कहा- “अगर हम तेजस्वी यादव के नेतृत्व में सरकार बनाते हैं तो हम विधानसभा के पहले सत्र में तीनों किसान विरोधी क़ानूनों के खिलाफ एक बिल पास करेंगे।” हाल ही में केंद्र सरकार ने किसानों के मुद्दे से जुड़े तीन बिल पास कराए थे। र्ज्दा कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं। 

पहली बार सहयोगी दलों ने तेजस्वी को माना नेता 
घोषणापत्र के साथ यह भी साफ हो गया कि नीतीश कुमार के सामने महागठबंधन की ओर से तेजस्वी ही सीएम फेस हैं। इससे पहले कांग्रेस और दूसरे सहयोगी दलों ने तेजस्वी के नेतृत्व का विरोध किया था। 2020 के चुनाव में ये पहली बार है जब सार्वजनिक रूप से आरजेडी चीफ लालू यादव के बेटे को साथी दलों ने भी बिहार में अपना नेता मान लिया है।

Check Also

बिहारः नीतीश कुमार ने जनता से की भ्रमित नहीं होने की अपील, बोले- तेजस्वी 10 लाख नौकरियों के लिए पैसा कहां से लाएंगे

जहांनाबादः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को राज्य के लोगों से RJD नेता तेजस्वी …