महंगे ईंधन ने थोक महंगाई दर में लगाई आग, 12.94% के रिकॉर्ड स्तर पर महंगाई

नई दिल्ली, 14 जून (हि.स.)। कोरोना संक्रमण काल में महंगाई को रोकने की कोशिश में जुटी केंद्र की सरकार को थोक महंगाई दर के मोर्चे पर बड़ा झटका लगा है। मई के महीने में थोक महंगाई दर 12.94 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई है। जबकि अप्रैल के महीने में थोक महंगाई दर 10.49 फीसदी के स्तर पर थी। वहीं पिछले साल मई के महीने में थोक महंगाई दर -3.37 फीसदी के स्तर पर थी। इस तरह वार्षिक आधार पर थोक महंगाई दर में 16.31 फीसदी और मासिक आधार पर 2.45 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई है।
होलसेल प्राइस इंडेक्स (डब्लूपीआई) पर आधारित थोक महंगाई दर में लगातार पांचवे महीने बढ़ोतरी हुई है। केंद्र सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक मासिक आधार पर खाद्य थोक महंगाई दर बढ़कर 8.11 फीसदी हो गई है, जबकि अप्रैल के महीने में खाद्य थोक महंगाई दर 7.58 फीसदी थी। वहीं फ्यूल और पावर की महंगाई दर बढ़कर 37.61 फीसदी हो गई है, जबकि अप्रैल के महीने में ये 20.94 फीसदी के स्तर पर थी। इसी तरह मैन्युफैक्चरिंग लागत बढ़ने की वजह से मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की थोक महंगाई दर भी मई के महीने में बढ़कर 10.83 फीसदी हो गई है।
दलहन के मामले में मई के महीने में महंगाई दर अप्रैल के 10.74 फीसदी से बढ़कर 12.09 फीसदी हो गई है। वहीं प्याज की महंगाई दर में भी 23.24 फीसदी का उछाल आया है। प्याज के अलावा शेष सब्जियों के मामले में थोक महंगाई दर में कमी दर्ज की गई है। इसी तरह प्राथमिक जरूरत की चीजों की महंगाई दर 10.16 फीसदी से घटकर 9.61 फीसदी हो गई है। दूसरी ओर दूध की महंगाई दर अप्रैल के 2.04 फीसदी से बढ़कर 2.51 फीसदी हो गई है। अंडा, मीट और मछली की महंगाई दर अप्रैल के 10.88 फीसदी से घट के 10.73 फीसदी के स्तर पर आ गई है।
केंद्र सरकार की ओर से इन आंकड़ों को जारी करते हुए बताया गया है कि क्रूड ऑयल (कच्चे तेल) की कीमत में लगातार आई तेजी की वजह से थोक महंगाई दर में काफी इजाफा हुआ है। क्योंकि कच्चे तेल की कीमत में बढ़ोतरी होने के कारण भारत में पेट्रोल और डीजल जैसे पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत बढ़ी है। साथ ही मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की लागत में भी इजाफा हुआ है। इसकी वजह से मई 2020 की तुलना में मई 2021 में थोक महंगाई दर में काफी बढ़ोतरी हुई है।
हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

जुलाई में जीएसटी कलेक्शन 1.16 लाख करोड़ रुपये के पार

            नई दिल्ली जुलाई 2021 में कुल जीएसटी राजस्व 1,16,393 करोड़ रुपये रहा है। …