मध्य प्रदेश: मंत्री बिसाहू लाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज, कांग्रेस प्रत्याशी की पत्नी के लिए किया था अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल

अनूपपुर: अनूपपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार विश्वानाथ सिंह की पत्नी राजवति सिंह के लिये अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल करने के मामले में इस सीट के बीजेपी प्रत्याशी और मध्य प्रदेश के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहू लाल सिंह के खिलाफ मंगलवार रात को कोतवाली पुलिस थाना अनूपपुर में FIR दर्ज की गई है.

 

इसके अलावा, मध्य प्रदेश राज्य महिला आयोग ने भी बिसाहू लाल सिंह की इस टिप्पणी पर उन्हें मंगलवार दोपहर नोटिस भेजकर जवाब मांगा है. कोतवाली पुलिस थाना अनूपपुर के थाना प्रभारी नरेन्द्र पाल ने कहा, ‘‘कांग्रेस प्रत्याशी विश्वनाथ सिंह की पत्नी राजवति सिंह की शिकायत पर बीजेपी प्रत्याशी और प्रदेश के मंत्री बिसाहू लाल सिंह के खिलाफ मंगलवार रात को हमारे थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 294 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है.’’

 

आदिवासी नेता बिसाहूलाल सिंह का सोमवार को एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार विश्वनाथ सिंह की दूसरी पत्नी राजवति सिंह के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था. राजवति ने अपनी शिकायत में कहा, ‘‘बिसाहू लाल सिंह ने मेरे सतीत्व पर लांछन लगाया है और इस प्रकार उन्होंने IPC की धारा 294 और 506 और आईटी एक्ट की धारा 66 के अंतर्गत आपराधिक कृत्य किया है.’’

 

बड़ी तादाद में महिलाओं के साथ मामला दर्ज करवाने के लिए कोतवाली थाने पहुंची राजवति फूट-फूट कर रोती हुईं नजर भी आईं. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. थाने में राजवति ने रोते-रोते मीडिया को बताया, ‘‘मैं बिसाहूलाल को अपने पिता समान मानती थी. बिसाहूलाल ने मेरे लिए इतना गंदा शब्द उपयोग किया है कि इससे मुझे बहुत दुख हो रहा है.’’

 

मध्य प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य संगीता शर्मा ने भोपाल में मीडिया को बताया कि आयोग ने बिसाहू लाल सिंह से स्पष्टीकरण मांगा है. बिसाहू लाल अनूपपुर सीट से बीजेपी उम्मीदवार के रूप में उपचुनाव लड़ रहे हैं. इसी सीट से उन्होंने वर्ष 2018 का विधानसभा चुनाव कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर जीता था.

 

वायरल वीडियो में मंत्री कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, ‘‘विश्वनाथ सिंह (कांग्रेस उम्मीदवार) अपनी पहली पत्नी के बारे में जानकारी क्यों छिपा रहे हैं और नामांकन पत्र में अपनी ‘‘रखैल’’ के बारे में बता रहे हैं. उन्होंने अपनी पहली पत्नी के बारे में जानकारी नहीं दी, लेकिन रखैल की दी है. वह अपनी पहली पत्नी के बारे में क्यों नहीं बता रहे हैं.’’

 

हालांकि, विश्वनाथ ने अपने बयान में कहा, ‘‘बिसाहूलाल की ओर से लगाये गये सभी आरोप निराधार हैं. मेरी शादी 15 साल पहले हुई और मेरी 14 साल की बेटी भी है. मैं उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा. यह बीजेपी उम्मीदवार के चरित्र को उजागर करता है. एक ओर तो वह मौन व्रत का नाटक करते हैं और दूसरी ओर महिलाओं का अपमान करते हैं. लोग सब देख रहे हैं.’’

 

मालूम हो कि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की ओर से रविवार को ‘आइटम’ कहे जाने पर आहत होकर मध्य प्रदेश की महिला और बाल विकास मंत्री इमरती देवी भी सोमवार को फूट-फूट कर रोई थी. इसका वीडियो स्थानीय टेलीविजन चैनलों में दिखाई जाने के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था.

 

इमरती देवी को ‘आइटम’ कहे जाने के विरोध में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और अन्य पार्टी नेताओं ने सोमवार को राज्य में विभिन्न जगहों पर धरने पर बैठकर दो घंटे का मौन व्रत किया था.

Check Also

3 नये कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर आंदोलन में उतरे, लाडवा, आदमपुर, सिंघराण से किसान दिल्ली रवाना

  श्रद्धानंद राजली और ऋषि राजली के नेतृत्व में युवा किसान मोटरसाइकिल पर दिल्ली जाने …