मध्य प्रदेश: इंदौर में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी, होली की पारंपरिक शोभायात्रा ‘गेर’ पर DM ने लगाई रोक

मध्य प्रदेश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित इंदौर जिले में महामारी के मामलों में बढ़ोतरी के चलते प्रशासन ने यहां रंगपंचमी की पारंपरिक शोभायात्रा गेर के आयोजन पर रोक लगाने का फैसला किया है. होली की दशकों पुरानी त्योहारी परंपरा से जुड़ी इस विशाल शोभायात्रा में हर साल हजारों हुरियारे जुटते हैं.

आपदा प्रबंधन समिति की मंगलवार शाम आयोजित बैठक के बाद जिलाधिकारी मनीष सिंह ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में खासकर इंदौर शहर में भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों के चलते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में इजाफा हुआ है. इसके मद्देनजर हमने तय किया है कि इस बार गेर के आयोजन को मंजूरी नहीं दी जाएगी.

उन्होंने बताया कि गेर के आयोजकों से कहा गया है कि वो रंगपंचमी पर इस शोभायात्रा की तैयारी न करें. जिलाधिकारी ने बताया कि शहर में बडे़ धार्मिक और सामाजिक आयोजनों को भी फिलहाल अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने बताया कि स्थानीय अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के लिए बिस्तरों की तादाद बढ़ाई जा रही है.

साथ ही कहा कि शहर के होटलों और मैरिज गार्डनों में होने वाले आयोजनों में हॉल या खुले मैदान की कुल क्षमता के केवल 50 फीसद मेहमानों को बुलाने की अनुमति दी जाएगी. उन्होंने बताया कि सार्वजनिक जगहों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों से सख्ती के साथ जुर्माना वसूला जाएगा. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक करीब 35 लाख की आबादी वाले इंदौर जिले में 24 मार्च से लेकर 22 फरवरी तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 58,996 मरीज मिले हैं, जिनमें से 931 मरीजों की मौत हो चुकी है.

मध्य प्रदेश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 248 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 2,59,969 तक पहुंच गई है. राज्य में पिछले 24 घंटों में इस बीमारी से एक व्यक्ति की मौत हुई है. इसके बाद प्रदेश में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 3,855 हो गई है.

Check Also

10 साल की बच्ची के साहस को सलाम:मोबाइल लूट कर भाग रहे बदमाश को पकड़ा, दूसरे लुटेरे को भागने पर किया मजबूर

  माेबाइल लूट की प्रतीकात्मक फोटो। सेवानिवृत्त दादा के साथ एक्टिवा से घर लौट रही …