मणिपाल हेल्थ कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल्स को खरीदने के लिए तैयार, 1600 करोड़ रुपये की हो सकती है डील

मणिपाल हेल्थ एंटरप्राइजेज, कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल के इंडियन ऑपरेशन्स को खरीद सकती है. मणिपाल हेल्थ इसके अमेरिका स्थित मालिक से सौदे पर बातचीत कर रही है. इकनॉमिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक इस सौदे की जानकारी रखने वाले लोगों ने बताया कि कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल का प्रबंधन देखने वाली कोलंबिया पैसिफिक मैनेजमेंट भारत में पूरी तरह से हेल्थकेयर के बिजनेस से निकल जाना चाहती है.

जल्द हो सकता है सौदे का ऐलान
इस बीच, मणिपाल हेल्थ एंटरप्राइजेज और कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल जल्द ही सौदे को लेकर कोई साझा बयान जारी कर सकते हैं. अगर सौदा हो गया तो कोलंबिया एशिया की री-ब्रांडिंग मणिपाल हॉस्पिटल्स के तौर पर हो सकती है. यह अपोलो हॉस्पिटल्स के बाद देश की सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन बन सकती है. इस चेन के 26 अस्पताल हैं. इनमें 7 हजार बेड हैं. हालांकि मणिपाल हेल्थ एंटप्राइजेज प्रबंधन ने इस सौदे पर टिप्पणी से इनकार कर दिया.

अगले साल अप्रैल तक पूरा हो सकता है अधिग्रहण
खबरों के मुताबिक मणिपाल एडुकेशन एंड मेडिकल ग्रुप के मालिकाना हक वाली मणिपाल हेल्थ अपने ब्रांड से हॉस्पिटल चेन लॉन्च कर सकती है. यह अगले साल अप्रैल में शुरू हो सकता है. हालांकि इस सौदे पर लंबे वक्त से बातचीत चल रही है लेकिन दोनों ओर से टिप्पणी नहीं जा रही है. हालांकि इससे पहले मणिपाल ने फोर्टिस और मेदांता के साथ भी सौदे की कोशिश की थी लेकिन यह सफल नहीं रही. मणिपाल हेल्थ और कोलंबिया एशिया का भारतीय ऑपरेशन बंगलुरू में केंद्रित है.
मणिपाल हेल्थ 15 मल्टी डिसिप्लनरी अस्पताल चलाती है. ये अस्पताल, बेंगलुरू, दिल्ली, जयपुर, गोवा, सेलम, विजयवाड़ा, मेंगलुरू और मलेशिया में चलते हैं. प्राइवेट इक्विटी फर्म टीपीजी कैपिटल और सिंगापुर के सोवरेन वेल्थ फंड टेमासेक होल्डिंग की इसमें क्रमश: 25 और 18 फीसदी हिस्सेदारी है.

Check Also

कोरोना संकट के बीच राहत देने वाली खबर, देश का विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर पहुंचा

कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन प्रतिबंधों के चलते जूझ रही अर्थव्यवस्था के बीच एक अच्छी …