मकर संक्रांति:पवित्र संगम में डूबकी लगाने के लिए उमड़ी भीड़, छिन्नमस्तिका मंदिर में श्रद्धालुओं ने की पूजा

कड़ाके की ठंड के बावजूद मकर संक्रांति के मौके पर गुरुवार को सिद्धपीठ रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिका मंदिर प्रक्षेत्र के दामोदर भैरवी नदी के पवित्र संगम में हजारों श्रद्धालुओं ने डूबकी लगाई। इसके कारण सुबह से छिन्नमस्तिका मंदिर प्रक्षेत्र में भक्तों का तांता लगा रहा। पवित्र स्नान के बाद भक्तों ने छिन्नमस्तिका मंदिर में पूजा-अर्चना भी की। स्थानीय पुजारी असीम पंडा के अनुसार, मकर संक्रांति के मौके पर नदियों या जलाशयों में स्नान कर देवस्थल में पूजा अर्चना से पुण्य की प्राप्ति होती है। इसलिए हर वर्ष राज्य के कोने-कोने से श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं।

लोगों ने दही-चूड़ा खाने का लिया आनंद
इधर, स्नान और पूजा अर्चना के बाद श्रद्धालु नदी के किनारे ही दही-चूड़ा और तिलकुट खाते नजर आए। मकर संक्रांति के मौके पर दही-चूड़ा और तिलकुट खाने का रस्म है। बिहार के भागलपुर से आए जयशंकर शर्मा ने बताया कि संगम में स्नान और पूजा के बाद हमारे यहां दही-चूड़ा खाने का रस्म है। धर्म स्थलों पर पूजा अर्चना के बाद दही-चूड़ा खाने से ग्रह गोचर की स्थिति दुरुस्त होती है।

पूजा-अर्चना के लिए कतार में खड़े श्रद्धालु।
पूजा-अर्चना के लिए कतार में खड़े श्रद्धालु।

पंचवटी में हुआ भंडारे का आयोजन
इस दौरान छिन्नमस्तिका मंदिर न्यास समिति द्वारा पंचवटी में भंडारे का आयोजन किया गया। इसमें श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद स्वरुप खिचड़ी का वितरण किया गया।

Check Also

जिन्दा ही हाथ पैर बाँध कर डैम में फेंक दी गयी 22 वर्षीय MBBS की छात्रा

हजारीबाग मेडिकल कॉलेज (Hazaribagh Medical College) में MBBS की पढाई कर रही छात्रा के हाथ …