Monday , July 22 2019
Home / देश / भारत का एक ऐसा मंदिर, जिसे औरंगजेब के 1000 आदमी मिलकर भी न तोड़ सके

भारत का एक ऐसा मंदिर, जिसे औरंगजेब के 1000 आदमी मिलकर भी न तोड़ सके

हम जिस मंदिर की बात कर रहे हैं इसे ईंटों और पत्‍थरों से नहीं बल्कि पूरे पहाड़ को ही तराशा गया है। यह पहाड़ इतना मजबूत है कि इसकी एक चट्टान को आसानी से नहीं तोड़ा जा सकता है। इतिहासकारों के अनुसार इसे बनाने में करीब 4 लाख टन चट्टानों को निकालने की जरूरत पड़ी थी।

आश्‍चर्य इस बात का है कि जिस समय इस मंदिर का निर्माण हुआ उस समय कोई संसाधन भी नहीं थे। आख्रिर इस मंदिर को कैसे तराशा गया।

यह बात आज भी खोज का विषय है कि आख्रिर किस मशीन या औजार से इस मंदिर को तराशा गया है। जांच से पता चला कि यह शित मंदिर लगभग 5 हजार साल पुराना है। जब इस्‍लाम और ईसाइयों का नामोनिशान नहीं था।

Third party image reference

कहते हैं जब 1682 में देश मुस्लिमों के अधीन था तब औरंगजेब ने कैलाशा मंदिर को नष्‍ट करने की ठानी। इस घ्रणित काम को करने के लिए उसने 1 हजार लोगों को लगाया जिन्‍होनें 3 वर्षों तक तोड़ने का प्रयास किया लेकिन पूरी विफल रहे।

Loading...

Check Also

मोदी सरकार ने पहले 50 दिनों में आर्थिक वृद्धि को गति दी

नई दिल्ली :नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 50 दिनों में आर्थिक ...