भादों माह में दिखे यह सपने तो समझ जाए कि गणपति बप्पा हैं आपसे नाराज़

सारे देवताओं में सबसे पहली पूजा भगवान गणेश की होती है। हर शुभ काम की शुरुआत भी लोग भगवान गणेश की पूजा के साथ ही करते हैं।

ऐसे में सफलताओं के मार्ग में आने वाले सारी मुसीबतों का समाधान करने वाली भगवान गणेश की आराधना का पवित्र भादों महीने का शुभारंभ 4 अगस्त, 2020 से हो गया है।

दोस्तों, जिस प्रकार श्रावण माह आते ही सभी लोग शिव की भत्ति में गुम हो जाते हैं या यूं कहे कि शिव की आराधना करके अपनी सारी कामनाओं को पूरा कर लेते हैं, ठीक उसी प्रकार भादों माह आते ही लोग गणेश भक्ति में डूब जाते हैं और इनकी आराधना करके सभी कार्यसिद्धि हासिल कर लेते हैं।

हमारे शास्त्रों में भी कहा गया है कि –

‘कलौ चंडी विनायकौ’

अर्थ – कलयुग में माँ चंडी और गणेश की पूजा का महत्व सर्वाधिक और अतिशीघ्र फलदायी बताया गया है। पंच महाभूतों में गणेश जी जल तत्व प्रधान हैं इसीलिए रस, जिह्वा और गीलापन, जलतत्व की प्रधानता पर गणेश जी का वास माना जाता है।

बता दें कि भादों माह में भगवान गणेश को बहुत प्रिय लगने वाली वर्षा भी जमकर होती है और हमारी पृथ्वी जलमग्न रहती है। और तो और यही वह माह माना जाता है जब रूद्र और ब्रह्मा ने गणेश को गणपति के पद पर आसीन किया था। इसी के साथ अप्रसन्नता पर कर्मो में बिघ्न डालने का कार्य भी उन्हें ही सौंप दिया था।

ध्यान रहे कि भगवान गणेश आप से खुश हैं या खफा… इसका सही जवाब आपको भादों माह में ही मिल सकता है।

आज वेद संसार आपको बताने जा रहा है कि आखिर आप कैसे भादो माह में जान सकते हैं कि भगवान गणेश आपसे खुश हैं या खफा –
अगर आपको भादो माह में पूजा करने में मन ना लगें, कोई भी कार्य भागदौड़ करने के बावजुद ना पूरा हो… विद्यार्थियों का भी पढ़ाई में मन ना लगें… सौ बैतों की एक बात जब आपका मन और दिमाग दोनों अशांत रहने लगें तो आप समझ जाए कि गणपति बप्पा आप से रूठे हुए हैं।

यह सपने बताते हैं कि भगवान गणेश आपसे नाराज़ हैं –

हमने आपको बताया है पहले भी कि सपने हमें संकेत देते हैं आने वाले भविष्य की। वहीं, अगर आप भादो माह के दौरान रात में सोते समय सपने में देखते हैं कि आप जल में डूब रहे हैं, बाढ़ देख रहे हैं, सिर मुड़ाये मनुष्यों तथा गेरुआ वस्त्र धारण किये हुए पुरुषों को देखते हैं, या फिर गिद्ध, बहेलिया, चांडाल, गदहों और ऊंटो के बीच अपने आप को बैठा हुआ पाते हैं तो जान लें कि भगवान गणेश आपसे प्रसन्न नहीं

बता दें कि ऐसे सपने देखने के बाद इंसान हमेशा डरा-डरा सा रहता है मानो शत्रु उसका पीछा कर रहा हो। और तो और वह खुद को काफी असहज और असहाय सा मानने लग जाता है। इसी के साथ इंसान की बुद्धि भी सही तरह से निर्णय लेने में अक्षम हो जाती है।

भादो माह में स्वास्थ्य का रखें खास ध्यान –

इस भादो माह के दौरान इंसान को स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियों का भय घेरे रहता है,  इसलिए आयुर्वेद शास्त्र में भी इस माह में खान-पान को लेकर सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

भादों माह जो है वह सनातन धर्म के अनेकों व्रतों, पर्वों, और उत्सवों का माह भी कहलाता हैं, जिनमें श्री गणेश चतुर्थी व्रत, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, अजा एकादशी, कुशग्रहणी अमावस्या, हरितालिका व्रत तथा सूर्य देव की आराधना का पर्व प्रमुख है।

यह सत्य है कि भगवान गणेश की सच्चे मन से पूजा व आराधना करने से आपके सारे कार्य सही ढंग से चलते हैं। आपने नोटिस किया होगा कि खास इस माह में गणेश की सर्वाधिक पूजा-आराधना होती है। घर-घर में भगवान गणेश की आराधना होती है, जिससे प्राणी अपने समस्त कष्टों से मुक्ति की कामना करता है।

Check Also

6 मार्च शनिवार को न्याय के देवता शनि इन 7 राशियों पर रहेंगे मेहरबान, चमकेंगे किस्मत के सितारे

आज का राशिफल 6 मार्च 2021 Aaj Ka Rashifal 6 March 2021 : आज हम आपको 6 …