बेटे ने सौतेली मां के साथ बाप को मार डाला:3 दिन पहले हत्या कर दोनों के शव को दफनाया फिर बोरिंग से आहर में भर दिया पानी; दुर्गंध आने पर शव हुआ बरामद

घटनास्थल पर उमड़ी ग्रामीणों की भीड़। - Dainik Bhaskar

घटनास्थल पर उमड़ी ग्रामीणों की भीड़।

जमुई में एक बेटे को अपने पिता और सास का रिश्ता कुछ यूं नागवार गुजरा कि उसने दोनों की हत्या कर शव को आहर में दफना दिया। लाश को ठिकाने लगाने के बाद उसने खेत में सिंचाई के लिए लगे बोरिंग सेट से पूरे आहर को पानी से भर दिया। स्थानीय लोगों को इस बात की कानोंकान खबर नहीं थी। उन्हें पता तब चला जब आहर से दुर्गंध आने लगी। लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस ने आहर से शव को बरामद कर लिया है। घटना सिकंदरा थाना क्षेत्र के रवैय मुसहरी के पास की है। पुलिस ने आरोपी ललन मांझी को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल मामले की छानबीन की जा रही है।

3 दिन पहले ही मारपीट के बाद हत्या की

रवैय मुसहरी निवासी ललन मांझी के पिता कारु मांझी ने 3 साल पहले ही अपनी समधिन रजपुरा मुसहरी निवासी मुंशी मांझी की पत्नी भवानी मांझी के साथ शादी कर ली थी। बेटे को ये रिश्ता कतई पसंद नहीं था इसलिए पिछले तीन सालों से कारू मांझी इधर-उधर रहकर गुजर-बसर कर रहा था। स्थानीय लोगों ने बताया कि कि कारू मांझी अपनी पत्नी के साथ सोमवार को अपने बेटे ललन मांझी के पास पहुंचा था। ललन मांझी आक्रोशित होकर दोनों को घर से भगाने लगा। उनके नहीं जाने पर दोनों के साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद उसने दोनों की हत्या कर दी और लाश को ठिकाने लगा दिया।

आहर से बरामद शव।

आहर से बरामद शव।

आहर से आने लगी दुर्गंध तो लोगों ने सूचना दी
स्थानीय लोगों को इस बात का अंदेशा था इसलिए मंगलवार को सिकंदरा थाना में सूचना दी गई। इसके बाद आरोपी ललन मांझी से पूछताछ की गई, लेकिन उसने बात को रफा -दफा कर दिया। कुछ ग्रामीणों को इस बात से संतुष्टि नहीं मिली तो दैनिक भास्कर से सम्पर्क किया। इसके बाद फिर से पड़ताल शुरू हो गई। आहर से दुर्गंध आने पर पुनः थानाध्यक्ष को सूचना दी गई, जिसके बाद मौके पर पुलिस दल-बल के साथ पहुंची। आहर किनारे ग्रामीणों की भीड़ लग गई। कड़ी मसक्कत के बाद मजदूर के द्वारा कुदाल से खुदवाया गया, लेकिन मजदूर लाश को निकालने में असमर्थ रहे। इसके बाद पुलिस ने JCB से दोनों लाश को निकलवाया। मौके पर प्रशिक्षु DSP प्रशांत कुमार, आदित्य कुमार सर्किल इन्सपेक्टर नीरज कुमार, थानाध्यक्ष सदाशिव कुमार साहा, अवर निरीक्षक नवीन सिंह, राकेश कुमार सहायक अवर निरीक्षक राजकिशोर पासवान शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जमुई भेजा दिया।

लाश दफनाने में गांव के 5 लोग भी शामिल

स्थानीय लोगों ने बताया कि लाश दफनाने वाले दिन आहर में पानी नहीं था। इसके बाद घर के पास जीतो महतो के खेत में लगे बोरिंग को चालू कर ललन मांझी ने आहर में पानी भर दिया था। आसपास के लोगों को इसकी भनक थी। लोग आपस में चर्चा भी करते थे, लेकिन मामले का खुलासा नहीं कर रहे थे। लाश को ठिकाने लगाने में आरोपी ललन मांझी को चार से पांच लोगों का सहयोग भी मिला है। इस संबंध में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष सदाशिव कुमार साहा ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। फिलहाल आरोपी की पत्नी लाजो देवी को हिरासत में लिया गया है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

चाचा ने ले लिया अपमान का बदला:नीतीश की तारीफ पर पारस को चिराग ने पार्टी से निकालने की धमकी दी थी, तब दुखी होकर पारस ने कहा था-समझो मर गया तुम्हारा चाचा

  पशुपति पारस और चिराग पासवान। चिराग पासवान का हठ उनको ले डूबा। LJP के …