बेटी ने इस्लाम छोड़ अपना लिया दूसरा धर्म, बौखलाया पिता ले आया पेट्रोल और फिर धू-धूकर जल उठी लड़की

धर्म लोगों को जोड़ने का काम करता है। लोगों को मानसिक सुख देने के लिए धर्म बनाया गया था।  धार्मिक ग्रंथों में अच्छी बातें लिखी होती हैं, जो लोगों को सही मार्ग पर चलने का मार्गदर्शन करती है। लेकिन लोगों ने धर्म का कुछ और ही मतलब समझ लिया। धर्म के नाम पर अब लोग सामने वाले को टॉर्चर करने तक से बाज नहीं आते। ऐसा ही एक मामला युगांडा से सामने आया, जहां एक पिता ने अपनी बेटी को जिंदा जला दिया। वजह बनी बेटी का अपना धर्म बदलने का फैसला। उसने इस्लाम छोड़ दूसरे धर्म को पनाया, तब पिता ने उसपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। लड़की की हालत देख आपका कलेजा कांप जाएगा…

धर्म के नाम पर ये खौफनाक घटना युगांडा से सामने आई। यहां रहने वाली 24 साल की रहेमा क्योमुहेंदो को गंभीर हालत में एम्बेल रीजनल रेफेरल हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया।

<p>लड़की का पेट, पैर, गले और पीठ बुरी तरह जल गया था। आनन-फानन में उसे अस्पताल में एडमिट करवाया गया। जहां अगले एक महीने तक उसका इलाज किया जाएगा।&nbsp;</p>

लड़की का पेट, पैर, गले और पीठ बुरी तरह जल गया था। आनन-फानन में उसे अस्पताल में एडमिट करवाया गया। जहां अगले एक महीने तक उसका इलाज किया जाएगा।

<p>जब लड़की अस्पताल आई थी, तब बेहद थी। जब उसे होश आया तब उसने अपने पिता की हैवानियत लोगों को बताई। लड़की ने बताया कि 4 मई को उसके पिता ने ही उसपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

जब लड़की अस्पताल आई थी, तब बेहद थी। जब उसे होश आया तब उसने अपने पिता की हैवानियत लोगों को बताई। लड़की ने बताया कि 4 मई को उसके पिता ने ही उसपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी।

<p>जानकारी के मुताबिक, इस्लाम धर्म से ताल्लुक रखने वाली इस लड़की ने पिता &nbsp;खिलाफ जाकर ईसाई धर्म अपनाया था। युगांडा में 84 प्रतिशत लोग ईसाई धर्म के हैं।</p>

जानकारी के मुताबिक, इस्लाम धर्म से ताल्लुक रखने वाली इस लड़की ने पिता  खिलाफ जाकर ईसाई धर्म अपनाया था। युगांडा में 84 प्रतिशत लोग ईसाई धर्म के हैं।

<p>जब रहेमा के पिता को पता चला कि उसकी बेटी ने भी इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है, तो उसने घर में रखे पेट्रोल को उसपर छिड़क दिया और आग लगा दी।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

जब रहेमा के पिता को पता चला कि उसकी बेटी ने भी इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है, तो उसने घर में रखे पेट्रोल को उसपर छिड़क दिया और आग लगा दी।

<p>लड़की के पिता इस्लाम धर्मगुरु है। रहेमा बीते कुछ दिनों से अपनी आंटी के घर रह रही थी, जहां वो रेडियो पर ईसाई धर्म के बारे में सुन रही थी। इस बीच उसके मन में इस धर्म के प्रति झुकाव बढ़ गया।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

लड़की के पिता इस्लाम धर्मगुरु है। रहेमा बीते कुछ दिनों से अपनी आंटी के घर रह रही थी, जहां वो रेडियो पर ईसाई धर्म के बारे में सुन रही थी। इस बीच उसके मन में इस धर्म के प्रति झुकाव बढ़ गया।

<p>उसने अपने पिता के एक पादरी दोस्त को कॉल किया और धर्म परिवर्तन करवा लिया। जब उसके पिता को इस बात की जानकारी हुई तो उसने पहले उसे काफी मारा और फिर रमजान के ग्यारहवे दिन आग लगाकर उसे मारने की कोशिश की। &nbsp;बता दें कि युगांडा ईसाई प्रमुख देश है, जहां 84 प्रतिशत लोग ईसाई हैं। जबकि 14 प्रतिशत लोग इस्लाम मानते हैं।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

उसने अपने पिता के एक पादरी दोस्त को कॉल किया और धर्म परिवर्तन करवा लिया। जब उसके पिता को इस बात की जानकारी हुई तो उसने पहले उसे काफी मारा और फिर रमजान के ग्यारहवे दिन आग लगाकर उसे मारने की कोशिश की।  बता दें कि युगांडा ईसाई प्रमुख देश है, जहां 84 प्रतिशत लोग ईसाई हैं। जबकि 14 प्रतिशत लोग इस्लाम मानते हैं।

Check Also

साइकल से ऐसा खतरनाक स्टंट कौन करता है भाई, वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर कब क्या वायरल हो जाए किसी को मालूम नहीं चलता हर दिन सोशल …