बिहार में ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए होगी बेहतर व्यवस्था : तारकिशोर

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने बताया कि आगामी बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए कृषि एवं अनुषंगी प्रक्षेत्र में किसानों, पशुपालकों, मत्स्य पालकों एवं सहकारिता से जुड़े संगठनों की बेहतरी एवं उनकी आय में वृद्धि के बेहतर प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि बजट के पूर्व कृषि एवं अनुषंगी प्रक्षेत्र के प्रतिनिधियों एवं किसानों के साथ इसके लिए विचार विमर्श किया गया है।

प्रसाद ने कहा कि कृषि एवं अनुषंगी क्षेत्र में कार्यरत प्रतिनिधियों, किसान-उत्पादक संगठनों, कृषकों, पशुपालकों, गन्ना उत्पादकों, मत्स्य पालकों, सहकारिता एवं बागवानी मिशन से जुड़े प्रतिनिधियों से कई सुझाव प्राप्त हुए हैं, जिनपर वित्त विभाग समीक्षोपरांत आवश्यक निर्णय लेगा।

उल्लेखनीय है कि मक्का उत्पादन से जुड़े किसानों ने मक्का के व्यवसायिक उपयोग के लिए स्वीट कॉर्न, बेबी कॉर्न की प्रोसेसिंग इकाई की स्थापना तथा मक्का की फसल के समुचित भंडारण, रख-रखाव की व्यवस्था के लिए आवश्यक व्यवस्था करने का सुझाव सरकार को दिया है।

केला उत्पादन से जुड़े किसानों ने केला के अवशेष जैसे केला के पत्ते, केला के छिलके आदि पर आधारित उद्यम लगाने, इसके व्यवसायिक उपयोग, वर्मी कंपोस्ट बनाने इत्यादि के लिए प्रशिक्षण तथा अन्य आवश्यक कदम उठाने का सुझाव दिए हैं।

जैविक खेती से जुड़े किसानों ने जैविक बीज प्रोसेसिंग प्लांट लगाने, जैविक एवं अजैविक उत्पादन का दर निर्धारित करने के साथ-साथ जैविक फसलों की मार्केटिंग की सुविधा उपलब्ध कराने का सुझाव देते हुए सरकार से इसे पूरा करने की मांग की है।

बागवानी मिशन से जुड़े किसानों ने बिहार में लीची, आम इत्यादि फलों के निर्यात की सुविधा, फलों की ग्रेडिंग, पैकेजिंग, कोल्ड स्टोरेज की सुविधा एवं पल्प आधारित उद्योग लगाने के सुझाव सरकार को दिए।

नवादा, गया और नालंदा जिले के पान उत्पादक किसानों ने बिहार में अंतरराष्ट्रीय स्तर की पान मंडी की व्यवस्था करने, इसके लिए प्रशिक्षण देने तथा उद्यानिक फसलों के प्रोत्साहन योजनाओं में इसे शामिल करने की आवश्यकता बतायी।

उपमुख्यमंत्री का कहना है कि किसानों एवं अनुषंगी क्षेत्र में कार्य कर रहे प्रतिनिधियों ने विगत वर्षों में बेहतर काम किया है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाओं एवं प्रोत्साहन कार्यक्रमों को संचालित किया है।

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य के किसानों की बेहतरी और फसलों के उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि के लिए कृषि रोडमैप के माध्यम से दूरगामी निर्णय लिए गए, जिसके अच्छे परिणाम मिले हैं।

Check Also

ट्रैक्टर चालक सह मालिक को जहर खिलाकर उतारा मौत के घाट, ट्रैक्टर भी ले उड़े चोरी

किशनगंज,26 मई (हि.स.)। शहर के खगड़ा में शिवनगर भीमनगर सुपौल निवासी चालक रविन्द्र शर्मा को …