बिहार चुनाव 2020: उपेंद्र कुशवाहा के साथ 4 रैलियां करेंगी मायावती

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियों ने अपने प्रमुख नेताओं को चुनावी मैदान में उतारना शुरू कर दिया है। इस मामले में बसपा भी पीछे नहीं है। बसपा सुप्रीमो मायावती भी बिहार में 4 रैलियों को सम्बोधित करेंगी। बता दें कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अगुवाई में कुल 6 पार्टियों ने मिलकर ‘ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट’ बनाया है। इस फ्रंट का सीएम चेहरा उपेंद्र कुशवाहा हैं। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव पर पुरे देश की नजरें है, जिसका कारण है पिछले कुछ दिनों से बीजेपी सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश। दूसरी और बहुजन समाज पार्टी उपेंद्र कुशवाह और अन्य दलों के साथ मिल कर बिहार के यह चुनाव लडऩे की तैयारी कर रही है। जल्द ही पहले चरण कि वोटिंग शुरू होने वाली है। सभी राजनैतिक दल रैलियों , जनसभा को सम्बोधन के लिए लग गई है। इस क्रम में बसपा सुप्रीमो मायवती भी भीहर में चार रैलियों को सम्बोधन करेगी।

 

रालोसपा और बसपा ने चुनावी रणनीति पर बुधवार को साझा मंथन किया। दोनों पार्टियों ने तय किया है कि मायावती, उपेंद्र कुशवाह के साथ भभुआ, बक्सर, बेतिया और मोतिहार में रैली करेंगे। लेकिन अभी तक इन रैलियों के तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है कि किस दिन यह रैलियां होगी। ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट के गठबंधन में शामिल ऑल इंडिया मजलिसे मुसलमीन (एआईएमएम) के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी भी रालोसपा अध्यक्ष के साथ रैलियां साझा करेंगे। दोनों नेताओं के बीच सीमांचल क्षेत्र में मंच साझा करने की रूपरेखा तय की जा रही है। रालोसपा और बसपा की इस साझा बैठक में सभी सीटों की रणनीति को लेकर बात हुई। उपेंद्र कुशवाह ने कहा कि बिहार में 30 साल में बेहाल हो गया है। इस बार बिहार में बदलाव होगा और राज्य में शिक्षा, कमाई, दवाई, सिचाई का और बेहतर इंतजाम किया जायजा। इस दौरान बसपा के बिहार क्वार्डीनेटर रामजी गौतम ने कहा कि यह गठबंधन बिहार में बदलाव के लिए है।

Check Also

मुंगेर एसपी लिपि सिंह पर कार्रवाई में देरी महंगी पड़ी; तीन जिलों से पुलिस बल मंगाकर ठीक किया जा रहा लॉ एंड आर्डर

मुंगेर पुलिस की कार्रवाई के बाद एसपी लिपि सिंह सवालों के घेरे में हैं। लोगों …