बिहार चुनाव में NDA के लिए 12 रैलियां करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम नीतीश कुमार भी रहेंगे मौजूद

पटना: बिहार चुनाव (Bihar Election) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के भरोसे एनडीए की नैया पार लगने की उम्मीद है. इस बार चुनाव में पीएम मोदी 12 रैलियां करेंगे, जो सिर्फ बीजेपी के लिए न होकर पूरे एनडीए के लिए होंगी. इस दौरान मंच पर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) भी मौजूद रहेंगे. पटना में एनडीए की तरफ से प्रेस कांफ्रेंस में इस बात की जानकारी दी गई.

इस तारीखों पर पीएम मोदी की रैलियां
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadanvis) ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी सारी रैलियां एनडीए की रैलियां होंगी. सारी रैलियों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रहेंगे. अगर कहीं सीएम नहीं रहेंगे, तो उनके दल के नेता रहेंगे. पीएम नरेंद्र मोदी 12 रैलियां करेंगे. 23 अक्टूबर को सासाराम, गया और भागलपुर में रैली होगी. 28 अक्टूबर को दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना में रैली करेंगे. 1 नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर रैली करेंगे. 3 नवंबर को पश्चिमी चंपारण, सहरसा और फारबिसगंज में रैली करेंगे. एनडीए की प्रेस कांफ्रेंस में बीजेपी के देंवेंद्र फडणवीस, रविशंकर प्रसाद, मंगल पांडेय, जेडीयू से संजय झा, हम से दानिश रिजवान और वीआईपी के प्रवक्ता मौजूद रहे.

बीजेपी ने रिपोर्ट कार्ड जारी किया
बीजेपी नेता मंगल पांडेय (Mangal Pandey)  ने कहा कि बीजेपी की ओर से रिपोर्ट कार्ड जारी किया गया. केंद्र और राज्य सरकार के कामों को रिपोर्ट कार्ड में शामिल किया गया. रिपोर्ट कार्ड लेकर हमारे कार्यकर्ता लोगों के बीच जा रहे हैं.

रविशंकर प्रसाद ने आरजेडी पर बोला हमला, नीतीश कुमार की तारीफ की
एनडीए की प्रेस कांफ्रेंस में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Central Minister Ravishankar Prasad) ने कहा कि बिहार चुनाव का मुद्दा बहुत साफ है. हमारा एजेंडा सिर्फ विकास का है. एक तरफ जनता के विकास की जिम्मेदारी वाले है, तो दूसरी ओर परिवार की जागीर बनाने वाले हैं. आरजेडी में पीढ़ी दर पीढ़ी परिवारवाद चल रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काम किया है. अब पटना से पूरे बिहार में कहीं भी छह घंटे में जा सकते हैं. हर घर तक बिजली पहुंच गयी है. जबकि राजद के नेता अपनी विरासत को भुलाने में लगे हैं. विरासत की याद दिलाएंगे, तो अपहरण, लूट और भ्रष्टाचार की याद आएगी. आरजेडी का जन्म लालू को भ्रष्टाचार को बचाने के लिए हुआ था. तब जनता दल के नेता थे मुख्यमंत्री थे, जब इस्तीफे का दबाव बढ़ा, तो आरजेडी का गठन कर लिया. ऐसे लोग बिहार के विकास की बात कह रहे हैं. 2004 में जब मुझे नोखा में गोली लगी थी, तो दो साल तक पुलिस ने बयान रिकार्ड नहीं किया गया था. नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने, तो हमारा बयान रिकार्ड किया गया. चट्टानी एकता के साथ एनडीए बिहार विधानसभा चुनाव लड़ रहा है.

सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल, एलईडी का इंतजाम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन किया जाएगा. मास्क के बिना रैली में जाने की इजाजत नहीं होगी. सोशल डिस्टेंसिंग से कुर्सियां लगाई जाएंगी. हर सभा के दौरान पास की 20 विधानसभा क्षेत्रों में रैली का आयोजन होगा. मैदान में एलईडी स्क्रीन लगायी जाएगी, सम्बंधित प्रत्याशी भी मौजूद रहेगा. पीएम की सभा एकसाथ 100 मैदानों में चलेगी. हर विधानसभा क्षेत्र के पांच मैदानों में सभा की जाएगी.

Check Also

Bihar Election 2020: टुकड़े-टुकड़े गैंग माले को तेजस्‍वी ने क्यों लगाया गले, देना होगा जवाब : अनुराग ठाकुर

 Bihar Election 2020: केंद्रीय वित्‍त राज मंत्री अनुराग ठाकुर ने मंगलवार , 27 अक्‍टूबर को डबल …