बागपत में बच्ची की हत्या:लापता बच्ची का गन्ने के खेत में मिला शव, पिता ने दुष्कर्म के बाद हत्या की जताई आशंका; पुलिस ने पड़ोसी को पकड़ा

 

बच्ची का शव मिलने के बाद पीड़ित परिवार के घर जुटे लोग। - Dainik Bhaskar

बच्ची का शव मिलने के बाद पीड़ित परिवार के घर जुटे लोग।

  • सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र का मामला
  • शनिवार की शाम से लापता थी बच्ची, रात में मिला शव

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में शनिवार देर रात एक सात साल की बच्ची का शव गन्ने के खेत से बरामद हुआ है। उसके शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। शव गन्ने की पत्तियों को छिपाकर रखा गया था। बच्ची शनिवार की शाम से लापता थी। परिजनों ने पड़ोसियों पर दुष्कर्म के बाद हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस एक शख्स को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। अफसरों ने पुलिस टीम के साथ मौके पर पड़ताल कर साक्ष्य जुटाए हैं।

चार घंटे बाद मिला लापता बच्ची का शव

यह मामला थाना सिंघावली अहीर थाना क्षेत्र का है। बिलोचपुरा गांव में रहने वाले कलीराम की 7 साल की बच्ची शनिवार की शाम करीब छह बजे घर से लापता हो गई थी। परिजन उसे तलाश ही कर रहे थे कि रात करीब 10 बजे उसका शव गन्ने के खेत से बरामद हुआ। इसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों की तहरीर के आधार पर उनके ही पड़ोसी मनोज और उनकी पत्नी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मनोज को हिरासत में लेकर हत्या के कारणों की पड़ताल शुरू की है।

पिता ने कहा- बेटी के साथ गलत काम हुआ
मृतका के पिता का कहना है कि रात में हम बच्ची को ढूंढ रहे थे तभी उसका शव गन्ने के खेत में मिला। उसके मुंह में पत्ती भर रखी थी और उसके शरीर पर काटने के निशान थे। जिसे मारकर खेत में गन्ने की पत्ती के नीचे दबाया गया था। उन्होंने बताया कि लड़की शाम को मंदिर में गई थी ओर कोई उसे वहीं से ले गया। उसके साथ गलत काम भी किया गया है। क्योंकि उसके शरीर पर काटने के निशान थे।

पुलिस बोली- जंगली जानवरों ने शव को नुकसान पहुंचाया

अपर पुलिस अधीक्षक मनीष मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने इस संबंध में पीड़ित परिवार के पड़ोसी मनोज और उनकी पत्नी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया। मनोज को हिरासत में लिया गया है। पोस्टमार्टम कराया गया तो डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची को चोटें जंगली जानवर से काटने से आई है। फिलहाल पुलिस केस के आधार पर मामले की जांच में जुटी हुई है।

 

Check Also

उत्तर प्रदेश: ‘अंतिम सांस तक किसानों के लिए लड़ती रहूंगी’, मेरठ में प्रियंका गांधी ने भरी हुंकार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि वह अपनी अंतिम सांस तक …