बरेली में गैंगरेप के इनामी गिरफ्तार:10 दिन पहले हुए गैंगरेप मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपियों को पकड़ा, रखा था 20 हजार का इनाम

मुख्य आरोपी नरेश और धर्मेंद्र (बाएं से) को पुलिस ने जेल भेज दिया है। - Dainik Bhaskar

मुख्य आरोपी नरेश और धर्मेंद्र (बाएं से) को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

बरेली के थाना इज्जतनगर क्षेत्र में हुए गैंगरेप में पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत दो और गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों पर पुलिस ने 20-20 हजार का इनाम घोषित किया था। पुलिस ने दोनों के पास से एक-एक तमंचा बरामद किया है। वारदात के बाद से ये फरार चल रहे थे। अब तक इस केस में सभी छह आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

पुलिस ने बताया कि गैंगरेप प्रकरण में धिमरी निवासी मुख्य आरोपी नरेश और धर्मेंद्र वारदात के बाद से फरार चल रहे थे। पुलिस को एक मुखबिर से दोनों के इज्जतनगर क्षेत्र में होने की सूचना मिली थी। सीओ के निर्देशन में आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम बनाई गई। टीम ने दबिश देकर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। गैंगरेप के चार आरोपी पहले ही पकड़े जा चुके है। इस तरह घटना में शामिल सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं।

इससे पहले कब-कब दबोचे गए आरोपी

5 जून: इज्जतनगर पुलिस एक आरोपी विशाल को मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था। विशाल के एक पैर में भी गोली लगी थी। पुलिस ने उसके कब्जे से 2 जिन्दा कारतूस व 4 खोखा कारतूस, 1 अदद तमंचा 315 बोर बरामद किया था | वहीं, दूसरे आरोपी अनुज पटेल को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया था।

8 जून: पुलिस ने अमित पटेल को मल्हपुर के जंगल से गिरफ्तार किया था। आरोपी अमित के पास से पुलिस ने एक अवैध तमंचा और दो जिन्दा कारतूस बरामद किए थे। जबकि विकास पटेल को लालपुर चौराहे से मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था।

31 मई को हुआ था गैंगरेप

एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि थाना इज्जतनगर में एक युवती ने तहरीर दी थी कि वह अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थी, वहां उसके साथ 6 लोगों ने गैगरेप किया। पीड़िता ने 31 मई को गैंगरेप होना बताया था। पहले उसने किसी को नहीं बताया। बाद में जब गुमसुम रहने पर घरवालों ने पूछा तो उसने बताया। इसके बाद रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

रायबरेली : धर्म छिपाकर हिन्दू महिला से रचाई शादी, जेवर और नगदी भी हड़पा

रायबरेली, 24 जून (हि.स.)। धर्म छिपाकर एक युवक ने हिन्दू महिला से शादी कर ली …