बठिंडा में दिल दहला देने वाला मंजर:अधेड़ ने ट्रेन की पटरी पर रखा सिर, पलक झपकते ही हुआ धड़ से अलग; शिनाख्त की कोशिशें जारी

 

बठिंडा के संतपुरा इलाके में रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ी अधेड़ उम्र के व्रूक्ति की लाश और मुआयाना करने पहुंची GRP की टीम। - Dainik Bhaskar

बठिंडा के संतपुरा इलाके में रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ी अधेड़ उम्र के व्रूक्ति की लाश और मुआयाना करने पहुंची GRP की टीम।

बठिंडा में बीते दिन एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। घटना इतनी दुर्दांत थी कि चंद सेकंड्स में उसका सिर धड़ से अलग हो गया। इसकी सूचना मिलने के बाद समाजसेवी संस्था और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव के टुकड़ों को समेटकर मोर्चरी में भिजवा दिया। हालांकि उसकी शिनाख्त नहीं हो पाई।

मामला सोमवार को होली वाली शाम का है। मिली जानकारी के अनुसार संतपुरा रोड पर ओवरब्रिज के पास अधेड़ उम्र के एक व्यक्ति ने ट्रेन की पटरी पर सिर रख दिया। जैसे ही ट्रेन आई, उसका सिर धड़ से अलग हो गया। घटना की सूचना मिलते ही समाजसेवी संस्था नौजवान वेलफेयर सोसायटी बठिंडा के वालंटियर जगदीप गिलपत्ती, जनेश जैन, राजविंदर धालीवाल, राकेश मौके पर पहुंचे और थाना GRP को सूचित कर बुलाया।

संस्था के अध्यक्ष सोनू माहेश्वरी ने बताया कि मृतक की फिलहाल पहचान नहीं हो पाई है। उसकी उम्र करीब 55 वर्ष लग रही है। मृतक ने सफेद रंग का कुर्ता-पायजामा, पैरों में चप्पल और कुर्ते के नीचे नीले रंग की टी-शर्ट पहनी हुई थी। पुलिस ने संस्था के सहयोग से शव को सिविल अस्पताल के शवगृह में पहुंचाकर शिनाख्त करवाने के लिए 72 घंटे के लिए सुरक्षित रख दिया है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

क्या वाकई बकरी के दूध पीने से सही होता है डेंगू? जानिए क्या कहते हैं डॉक्टर्स

नई दिल्ली. कोरोना के प्रहार से पूरा देश उबर तक नहीं पाया था, तब तक डेंगू …