बच्चों में ज्यादा पनपती हैं पेट के कीड़ों की समस्या, जानें इसके लक्षण, कारण और घरेलू उपचार

पेट से जुड़ी समस्याएं होना आम बात होती हैं। बच्चों को लेकर देखा जाता हैं कि उनको बार-बार पेट के कीड़ों की समस्या का सामना करना पड़ता हैं। ऐसा नहीं हैं की सिर्फ बच्चों में ही यह समस्या होती हैं बल्कि बड़ों को भी कई बार इस समस्या का सामना करना पड़ता हैं। इस समस्या में गुदा मार्ग (Anus) के बाहरी हिस्से पर सफ़ेद अपशिष्ट जमा होने के साथ ही खुजली होने लगती हैं। बोल नहीं सकने वाले बच्चे रोते रहते हैं और बोल पाने वाले बच्चे गुदा मार्ग में खुजली होने की समस्या की शिकायत करेगा या कहेगा कि उसे वहां कुछ काट रहा है। इसके साथ ही बच्चे की पॉटी में भी कीड़े आ सकते हैं। आज इस कड़ी में हम आपके लिए पेट में कीड़ों की समस्या के लक्षण, कारण और घरेलू उपचार की जानकारी लेकर आए हैं।

शारीरिक लक्षण

– जिन बच्चों या बड़ों के पेट में कीड़े हो जाते हैं, उनके चेहरे पर एक अलग-सा सूखापन हमेशा नजर आता है। उनकी त्वचा मुरझाई हुई रहती है।
– होठों के दोनों तरफ त्वचा में सफेदी बढ़ना, होठों की दोनों साइड में त्वचा में रूखापन होना भी पेट में कीड़े होने की निशानी होती है।
– पेट में कीड़े होने पर सोते समय बच्चों और बड़ों दोनों की ही लार टपकती है। इस बारे में अगर आपको सोते समय पता ना चलता हो तो सुबह के समय लार के निशान आपके गाल पर मिल जाएंगे। नहीं तो तकिए के कवर पर गीलापन महसूस हो सकता है।

 

पेट में कीड़े होने के कारण

– पेट कीड़े होने के कारण बच्चों और बड़ों में अलग-अलग होते हैं। बच्चों में जहां मुख्य रूप से हाइजीन की कमी के कारण यह समस्या होती है क्योंकि वे हर समय अपना हाथ मुंह में डालते रहते हैं।
– वहीं, बड़ों में कीड़े होने की समस्या का मुख्य कारण पाचन का सही ना होना
– संक्रमित भोजन का सेवन
– संक्रमित पानी का सेवन
– बहुत अधिक मैदा से बने फूड खाने का
– बहुत अधिक मीठा खाने का
– खाना खाने से पहले हाथ ना धोना
– रसोई में हाइजीन की कमी इत्यादि कारणों से पेट में कीड़े हो सकते हैं।

 

पेट के कीड़े मारने के घरेलू उपचार

अजवाइन
भोजन करने से पहले छोटा आधा चम्मच अजवाइन सीड्स का सेवन ताजे पानी के साथ करें। ऐसा आपको दिन में दो बार करना है और लगातार 3 दिन तक करना है। इसके साथ ही इन दिनों में आपको मीठा नहीं खाना है।

जीरा और गुड़
जीरा सीड्स (बीज) को आप सूखे तवे पर भून लीजिए। जब ये सीड्स ठंडे हो जाएं तो इन्हें आधा चम्मच लेकर गुड़ के साथ खा लीजिए। अगर इस तरह खाने में दिक्कत हो तो आप भुने हुए जीरे को पीसकर इनका पाउडर भी तैयार कर सकते हैं और फिर इसे गुड़ के साथ खा सकते हैं। ऐसा 5 दिन करने पर ही लाभ होगा।

तुलसी पत्तों का सेवन
तुलसी पत्तों का सेवन या तुलसी अर्क का सेवन करने पर भी कीड़ों की समस्या में लाभ मिलता है। लेकिन इसका सेवन केवल बड़े लोग करें बच्चों को इसका सेवन ना कराएं।

Check Also

प्रोटीन की कमी को दूर करती हैं ये 7 सब्जियां, शरीर से फैट घटाने के लिए जरूर खाएं

‘शाकाहार खाने में मांसाहार की तरह प्रोटीन नहीं होता इसलिए आपको नॉनवेज खाना शुरू कर …