बच्चे का आधार कार्ड कैसे बनवा सकते हैं, जान लीजिए कौन से डॉक्यूमेंट हैं जरूरी

आधार कार्ड आज की तारीख में हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज है। आधार कार्ड यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा जारी किया जाता है। बैंक से लेकर तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड होना बेहद जरूरी है। आधार कार्ड बच्चों का भी बनता है। यह आम आधार कार्ड से अलग होता है। पांच साल तक के बच्चों का आधार कार्ड बन सकता है।
हालांकि, इसके बनवाने के नियम थोड़े अलग हैं। आज के समय में स्कूलों में एडमिशन के दौरान भी आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है। इसलिए आइए जानते हैं कि पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड बनवाने के क्या हैं नियम।
बच्चों के आधार कार्ड बनवाने के नियम आम आदमी से कुछ अलग हैं। जैसे पांच साल की उम्र वाले बच्चों का बायोमेट्रिक डाटा नहीं लिया जाता है। इसकी जगह बच्चों के माता पिता की डेमेग्राफिक जानकारियों और फोटो के आधार पर बच्चों का आधार कार्ड बनाया जाता है।
आधार कार्ड बन जाने के बाद पांच साल पूरे होते ही बच्चों को अपना बॉयोमेट्रिक डाटा दर्ज करवना होता है। हालांकि, एक शर्त यह है कि आधार सूची में बच्चों के रजिस्ट्रेशन से पहले माता-पिता का नामांकन होना जरूरी है।
अगर बच्चों के रजिस्ट्रेशन के समय माता-पिता किसी ने भी नामांकन नहीं कराया है। तो वो आधार कार्ड धारक नहीं हैं। ऐसे में बच्चों का आधार कार्ड नहीं बन सकता है। बच्चों के आधार के लिए अभिवाक का नामांकन अनिवार्य है।

Check Also

60 वर्षीय महिला से रेप की जांच एसआईटी से कराने की मांग : पश्चिम बंगाल

   पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के दौरान एक बलात्कार की पीड़ित महिला ने …