बंगाल चुनाव में मुंगेरी कट्‌टे की डिमांड:नदिया जिले में चुनाव के दौरान चलता कट्‌टा, लखीसराय पुलिस ने 6 तस्करों को 9 हथियार और 70 गोलियों के साथ पकड़ा

 

पुलिस ने तस्करों के पास से 8 कट्‌टा, 1 पिस्टल और 70 गोली बरामद किया। - Dainik Bhaskar

पुलिस ने तस्करों के पास से 8 कट्‌टा, 1 पिस्टल और 70 गोली बरामद किया।

  • उपासना एक्सप्रेस से हथियार की तस्करी कर पश्चिम बंगाल के नदिया जिला में ले जाने की योजना थी
  • तस्कर ने कहा कि पार्टी फंड से हुई थी हथियार की खरीद, कार्यकर्ताओं के बीच होता वितरण

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में मुंगेरी कट्‌टे की डिमांड काफी है। इसका खुलासा तब हुआ जब लखीसराय पुलिस ने शुक्रवार देर रात 2 बजे रेलवे स्टेशन के पास 8 देसी कट्‌टा, 1 पिस्टल और 70 गोलियों के साथ 6 बदमाशों को पकड़ा। सभी बदमाश दो बाइक पर सवार थे। इनमें से 2 बंगाल, 3 लखीसराय और 1 मुंगेर के रहने वाले हैं। पुलिस ने बदमाशों से पूछताछ की तो पता चला कि ये लोग हथियार और गोली को ट्रेन से बंगाल के नदिया जिला ले जा रहे थे। बंगाल के तस्कर ने खुलासा किया है कि 1 अप्रैल को चुनाव के दौरान 30 हथियार और 400 गोलियों की डिमांड थी। शुक्रवार को उपासना एक्सप्रेस से पहली खेप लेकर जाना था। एक राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं के बीच इन हथियारों को बांटना था।

SP सुशील कुमार ने बताया कि उपासना एक्सप्रेस ट्रेन से हथियार की तस्करी कर पश्चिम बंगाल के नदिया जिला में ले जाने की योजना थी। शुक्रवार देर रात 2 बजे पुलिस ने रेलवे स्टेशन के पास STF और जिला पुलिस ने घेराबंद कर डिलेवरी ब्वॉय समेत 6 तस्करों को 2 अपाचे बाइक से गिरफ्तार किया है। छानबीन में तस्कराें के बाइक से मुंगेर निर्मित एक पिस्टल, 08 देसी कट्‌टा, 70 गोली बरामद किया है।

30 कट्‌टा और 400 गोली की डिमांड थी

तस्करों की पहचान बंगाल के नदिया जिला के सगुना कंपनी निवासी अजीत सरकार और आनंदनगर कल्याणी निवासी सपन चौधरी, मुंगेर के कासिम बाजार निवासी मिथिलेश कुमार (डिलेवरी ब्वाॅय) और लखीसराय के माणिकपुर थाना क्षेत्र निवासी क्रांतिवीर, सोनू कुमार, उदलेश कुमार के रूप में हुई है। बंगाल के तस्कर अजीत सरकार ने पूछताछ में बताया कि विधानसभा चुनाव में उपयोग के लिए हथियार ले जा रहे थे। नदिया में दूसरे चरण में एक अप्रैल से चुनाव है। इसी को लेकर वहां से 30 हथियार और 400 गोलियों की डिमांड हुई थी। मुंगेर से आर्डर भी बुक हो चुका था। निर्माण कम होने के कारण पहली खेप में महज 9 हथियार ही मिले थे।

5000 में कट्‌टा और ₹500 में गोली

पुलिसिया पूछताछ में सपन मंडल ने बताया कि मिथिलेश से 5000 रुपए में देसी कट्‌टा, 20 हजार रुपए में पिस्टल और 500 रुपए में गोली की डील हुई थी। पार्टी फंड से हथियार खरीदा गया था। पार्टी के लोगों के बीच वितरण करना था। हथियार खरीद के लिए किस पार्टी का फंड था, इस पर सपन ने चुप्पी साध ली। उसने बताया कि मुंगेर के हथियार का बंगाल चुनाव में काफी डिमांड है। पूर्व में भी कुछ लोग हथियार यहां से ले गए थे।

तस्करों से पूछताछ, हथियार निर्माता का किया जाएगा खुलासा
SP सुशील कुमार ने बताया कि तस्करों से पूछताछ की जा रही है। मुंगेर में बर्धा से हथियार लाया गया था। हथियार निर्माता और इस में संलिप्त अन्य लोगाें के विरूद्ध छानबीन कर कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तार हथियार तस्कराें को जेल भेज दिया गया है। बरामद हथियार पश्चिम बंगाल में हो रहे चुनाव में उपयोग के लिए तस्करी कर ले जाने की योजना था। हथियारों की बड़ी डील हुई थी। पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

मरी फिशिंग कैट के नाखून उखाड़ने लगे लोग:गोपालगंज में किसी गाड़ी की चपेट में आकर कुचली गई विलुप्त प्रजाति की बिल्ली, लोग मान रहे तेंदुए या चीते का बच्चा

गोपालगंज में NH 28 पर मरी पड़ी फिशिंग कैट। गोपालगंज में NH 28 पर मंगलवार …