फेस्टिवल सीजन ने गाड़ियों की बिक्री को दी रफ्तार, सितंबर में ज्यादा बिकी कारें और दोपहिया वाहन

कारों और यूटिलिटी व्हेकिल्स की थोक बिक्री में लगातार दूसरे महीने तेजी दर्ज की गई है. फेस्टिवल सीजन को ध्यान में रखते हुए कार मैन्यूफैक्चरर्स ज्यादा संख्या में डीलरों को डिलिवरी की है.सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स यानी SIAM की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल सितंबर में पैसेंजर व्हेकिल की घरेलू होलसेल बिक्री 2,72, 027 यूनिटों तक पहुंच गई, जो पिछले साल इस महीने की होलसेल बिक्री की तुलना में 26 फीसदी अधिक है. वहीं कारों की बिक्री पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 28.92 फीसदी बढ़ कर 1,63,981 यूनिट तक पहुंच गई.

 

सितंबर में दोपहिया वाहनों की बिक्री में भी इजाफा दर्ज

 

यूटिलिटी व्हेकिल की बिक्री में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 24.50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.यूटिलिटी व्हेकिल की बिक्री में लगातार तीसरे महीने बढ़ोतरी दर्ज की गई है.  SIAM के प्रेसिडेंट किंचि आयुकावा के मुताबिक पैसेंजर व्हेकिल और टू-व्हीलर की बिक्री संतोषजनक है. हालांकि पिछले साल के लो बेस की वजह से बिक्री ज्यादा दिखाई दे रही है.  सितंबर में दोपहिया वाहनों की 18.49 लाख यूनिटें बिकी हैं. यह सितंबर 2019 की तुलना में 11.6 फीसदी अधिक है. इंडस्ट्री को फेस्टिवल सीजन में दोपहिया वाहनों की बिक्री में और रफ्तार आने की उम्मीद है.

 

उन्होंने कहा कि ऑटो लोन आठ फीसदी से भी नीचे जा चुकी है. सस्ती दर लोगों को कार और टू-व्हीलर्स की बिक्री को बढ़ावा देगी.  पैसेंजर, यूटिलिटी व्हेकिल और टू-व्हीलर्स की बिक्री भले ही बढ़ी हो लेकिन अभी भी कॉमर्शियल गाड़ियों की बिक्री की स्थिति चिंताजनक बनी हुई. इस साल जुलाई-सितंबर तिमाही में कॉमर्शियल व्हेकिल की बिक्री पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 20.1 फीसदी घट गई.

Check Also

कोरोना काल में सरकारी कंपनियों से ऐसे खजाना भरना चाहता है केंद्र

नई दिल्ली : कोरोना काल में सरकार का खजाना खाली हो गया है और अब …