फीचर आर्टिकल:कोरोना काल में माता-पिता को खो चुके छात्रों की मदद करेगा बी-स्कूल, छात्रों को सर्वश्रेष्ठ प्लेसमेंट भी

 

कोरोना वायरस की दूसरी लहर खतरनाक साबित हुई। जिसने शहर से लेकर दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों तक अपना असर छोड़ा है। कोरोना संकट में जहां एक तरफ ज्यादा से ज्यादा लोग प्रभावित हुए, तो वहीं कई परिवारों ने अपनों को भी खोया है। इस दौरान सबसे ज्यादा पीड़ादायक स्थिति उन बच्चों के लिए रही, जिन्होंने इस कोरोना काल में अपने माता-पिता खो दिए। फिलहाल ऐसे बच्चों को आर्थिक और भावनात्मक सहयोग की बहुत ज्यादा जरूरत है। केंद्र और राज्य की सरकारें इस दिशा में काम कर रही हैं, तो वहीं कुछ बी-स्कूल भी ऐसे बच्चों की सहायता के लिए आगे आए हैं।

जयपुरिया इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऐसे बच्चों की सहायता के लिए आगे आया है, जिन्होंने कोरोना महामारी के चलते अपने माता-पिता को खो दिया है। शैक्षणिक संस्थान ने इस मामले में सराहनीय काम किया है। जयपुर इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ने यह निर्णय लिया है कि नए सेशन में एडमिशन लेने वाले बच्चों को 50 प्रतिशत की वित्तीय सहायता दी जाएगी। यह सहायता उन बच्चों को मिलेगी, जिन्होंने अपने पैरेंट्स को खो दिया और जो परिवार की आजीविका अर्जन के मुख्य स्रोत थे।

 

खबरें और भी हैं…
NEWS KABILA

Check Also

कैसे तैयार होगा UP बोर्ड की 10वीं और 12वीं का रिजल्ट? जानिए- क्या फॉर्मूला तय हुआ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट (UP Board …