फिल्म KARAN-ARJUN को हुए 26 साल, जानिए अब कहां हैं ‘मेरे करण-अर्जुन आएंगे’ कहने वाली RAKHI

शाहरुख खान और सलमान खान की फिल्म करन-अर्जुन (Karan Arjun) को पूरे 26 साल हो चुके है। ये फिल्म 13 जनवरी 1995 को रिलीज हुई थी। इस फिल्म से शाहरुख-सलमान की जोड़ी इतनी हिट साबित हुई थी कि लोग उन्हें आज भी करन-अर्जुन कहते हैं। इस फिल्म को फेमस डायरेक्टर राकेश रोशन ने बनाया था ।

 

 

 

ये एक ऐसी फिल्म है जिसमे इस फिल्म के हर एक्टर्स को अपनी एक्टिंग के चलते तारीफ मिली। फिर चाहे वो शाहरुख-सलमान की एक्टिंग हो या फिर इस फिल्म में मां का रोल निभाने वाली एक्ट्रेस राखी गुलजार(Rakhee Gulzar) ।

 

 

इस फिल्म में राखी जी (Rakhee Gulzar) ने शाहरुख-सलमान की मां दुर्गा सिंह का रोल निभाया था जो बहुत हिट हुआ था । इस फिल्म में राखी का फेमस डायलॉग भी था ‘मेरे करन-अर्जुन आएंगे’। मेरे बेटे आएंगे। मेरे करण-अर्जुन आएंगे। जमीन की छाती फाड़ के आएंगे। आसमान का सीना चीर के आएंगे ।

 

 

 

राखी का ये डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर है । आज ये एक्ट्रेस कहा है और क्या कर रही है ये हम आपको बताते हैं ।

 

 

 

70 के दशक की मशहूर एक्ट्रेस राखी चकाचौंध की दुनिया से दूर अपने फार्महाउस में सुकून का जीवन बिता रही है । राखी गुलजार मुंबई से दूर पनवेल में अपने फार्महाउस में अपना अधिकतर वक्त बिताती हैं ।

 

 

 

राखी को खेती करना बहुत पसंद है। रिपोर्ट्स के अनुसार उनके फार्महाउस पर कई पालतू जानवर भी हैं जिनकी वो देखभाल करती हैं । उनके फार्महाउस पर कई तरह की सब्जियां भी उगाई जाती हैं ।

 

 

राखी की बेटी और निर्देशक मेघना गुलजार बताती हैं कि उनकी मां को फार्महाउस में रहना पसंद है क्योंकि उनको जानवरों से और खेती-बाड़ी से बहुत लगाव है । मेघना के मुताबिक मुंबई शहर में होने वाले शोरगुल से राखी को बहुत घबराहट होती है जिससे वो काफी परेशान हो जाती हैं ।

 

 

 

एक्ट्रेस राखी गुलज़ार ने अपने करियर में कई बेहतरीन और हिट फिल्में दी हैं। शर्मीली, ब्लैकमेल, जीवन मृत्यु, तपस्या समेत फिल्मों में लीड किरदार किए।

 

 

हीरोइन से लेकर बहन और मां तक के किरदार में राखी ने ऐसे जज्बात दिखाए कि दर्शकों को उनका हर किरदार याद रह गया। उन्हें नेशनल अवॉर्ड और पद्मश्री पुरस्कार जैसे पुरस्कारों से भी नवाजा जा चुका है ।

 

 

अपने करियर की बुलदियों पर राखी ने गीतकार और निर्देशक गुलजार से शादी करने का फैसला किया था। 15 मई 1973 को राखी और गुलजार शादी रचाई। उनकी शादी के कुछ वक्त बाद उन्होंने बेटी मेघना को जन्म दिया ।

 

 

लेकिन एक साल भी नहीं बीता कि राखी और गुलजार के रिश्तों में दरार आ गई । शादी के एक साल बाद राखी और गुलजार ने अलग होने का फैसला कर लिया था।

 

 

 

शादी के 47 साल बाद भी दोनों ने तलाक नहीं लिया। यहां तक कि वो आज भी अपना रिश्ता उसी तरह से निभा रहे हैं।

 

 

गुलजार से अलग होने के बाद राखी ने बॉलीवुड में अपनी दूसरी पारी खेली। जिसमें उन्होंने कई हिट फिल्में दीं। इनमें कभी-कभी, कसमे वादे, त्रिशूल, मुकद्दर का सिकंदर, दूसरा आदमी, जुर्माना, काला पत्थर जैसी फिल्में शामिल हैं ।

Check Also

तांडव विवाद : सैफ के घर और अमेजन ऑफिस के बाहर पुलिस तैनात

मुंबई : वेब सीरीज ‘तांडव’ पर विवाद बढ़ने के बाद अमेजन के मुंबई स्थित कार्यालय और …