फ़िल्म निर्देशक बुद्धदेव दासगुप्ता का निधन

कोलकाता, 10 जून (हि.स.)। बांग्ला फिल्म जगत की विख्यात हस्ती  बुद्धदेव दासगुप्ता का  गुरुवार सुबह कोलकाता में निधन हो गया। वे  77 साल के थे। उन्होंने कई समकालीन फिल्मों का निर्देशन किया जो बेहद चर्चित रहीं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है।
दासगुुप्ता पिछले  कई दिनों से गुर्दा रोग एवं उम्रजनित बीमारियों से पीड़ित थे। इसके चलते उनका डायलासिस भी चल रहा था।  गुरुवार सुबह  कोलकाता स्थित अपने आवास पर  निद्रावस्था में उन्होंने अंतिम सांस ली।
 बुद्धदेव दासगुप्ता का जन्म 11 फरवरी 1944 को पुरुलिया के निकट अनारा क्षेत्र में वैद्य परिवार में हुआ था। उन्होंने  बाग बहादुर, ताहदेर कथा (उनकी कहानी), चराचर और उत्तरा जैसी बहुचर्चित समकालीन  फिल्मों का निर्देशन किया।  ताहदेर कथा (उनकी कहानी) और उत्तरा फिल्मों के लिए उन्हें कई पुरस्कार भी मिले। “निम अन्नपूर्णा”, ‘गृहयुद्ध’, ‘दूरत्व’, ‘फेरा’ जैसी उनकी फिल्में भी काफी सराही गयीं।
हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

कोरबा पुलिस की ‘नीली बत्ती’ का सुरूर:अफसर को रायपुर छोड़कर लौटते तो खुद बन जाते पुलिस वाले; ट्रैक्टर चालक से लूटे रुपए और मोबाइल तो जांजगीर में पकड़े गए

आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि जब्त की गई कोरबा पुलिस की ओर …