फसलों को बचाने की जुगत में जुटे किसान, कीटनाशक दवा कर छिड़काव कर 70% टि‌ड्डियों को मार गिराने का दावा

ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में टिड्डी दल ने बीते दो दिनों से अपना डेरा जमाया हुआ है। बुधवार रात जखौरा विकासखंड के गनगोरा गांव में पेड़ों पर बैठे टिड्डियों के झुंड पर कीटनाशक का छिड़काव किया गया। गुरुवार सुबह भी यहां किसानों के सहयोग से कीटनाशक का छिड़काव हुआ। बड़ी संख्या में टिड्डियों को मार दिया गया है। कृषि विभाग का दावा है कि, 70 प्रतिशत टिड्डियां खत्म हो गई हैं। लेकिन किसानों को अभी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।

कृषि रक्षा अधिकारी गौरव यादव ने बताया कि बुधवार शाम मध्य प्रदेश के अशोक नगर के चंदेरी से ललितपुर सीमा में टिड्डियों ने प्रवेश किया। गनगोरा क्षेत्र में पड़ाव होने के बाद टिड्डियों के नियंत्रण के लिए रात 2 बजे से चलाए गए ऑपरेशन में क्लोरपायरीफास दवा का छिड़काव किया गया। गनगोरा गांव के समीप लगभग 100 पेड़ों पर टिड्डियों का ठहराव रहा।

पेड़ों पर बैठी टिड्डियों पर छिड़काव करते ग्रामीण।

वहीं, जिलाधिकारी योगेश कुमार ने कृषि विभाग और फायर विभाग को प्रभावी नियंत्रण के लिए निर्देशित किया है। फायर ब्रिगेड वाहन, ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर, टिड्डी नियंत्रण दल की गाड़ियां और कृषि विभाग द्वारा कीटनाशी दवा का छिड़काव किया जा रहा है।

कीटनाशक के छिड़काव से मरे टिड्डी।

जिला कृषि रक्षा अधिकारी गौरव ने कहा कि, छिड़काव के बाद कुछ टिड्डियां अपनी क्षमतानुसार कुछ दूरी तक उड़ीं और मरकर नीचे गिर गईं। इधर, गुरुवार की दोपहर में टिट्टी दल विकास खंड बार के ग्राम हीरापुर सहित आस पास ग्रामों में लाखों की संख्या में पहुंचा है। ग्रामीण व कृषि विभाग, भारत सरकार की टीम टिड्डियों को भागने में लगे हुए थे।

Check Also

कानपुर जैसी घटनाः चोर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला; छीन ली दारोगा की पिस्टल, बुरी तरह पीटा

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में चोर को पकड़ने के लिए दबिश देने गई पुलिस …