फर्जी वोटरों का मुद्दा:निगम चुनाव से पहले 80 हजार फर्जी नामों की सूची पर बवाल; कांग्रेस ने संभागायुक्त से की शिकायत, कहा- भाजपा बेईमानी कर चुनाव जीतना चाहती है

इन दिनों फर्जी वोटर को लेकर कांग्रेसी अपने-अपने वार्डों में कुछ ज्यादा ही सक्रिय हैं। फर्जी वोटर को लेकर मामला बढ़ता ही जा रहा है। विधायक सज्जन सिंह वर्मा के साथ कांग्रेसी प्रतिनिधिमंडल ने फर्जी वोटरों की लिस्ट संभागायुक्त डॉ पवन शर्मा को जांच के लिए सौंपी। विधायक ने संभागायुक्त से कहा कि शहर की मतदाता सूची में सवा लाख से ज्यादा नाम फर्जी हैं। पहले जिला कलेक्टर भी 80 हजार फर्जी नामों की सूची में होने की बात मानकर उन्हें हटा चुके थे। अब फिर उन्हें सूची में जोड़ा जा रहा है।

संभागायुक्त को कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल के साथ सज्जन सिंह वर्मा ने समग्र आईडी की सूची भी दी। विधायक ने कहा कि मतदाता सूची में एक भी नाम बिना सत्यापन के नहीं जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने संभागायुक्त से कहा कि प्रशासन 13,500 राशन कार्डों को भी फर्जी मान चुका था। इस तरह फर्जी परिवारों को सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज कर मतदाता बढ़ाए जा रहे हैं।

कहा- दम है तो बंगाल में बैलेट से चुनाव कराए
संभागायुक्त ने कहा कि हम निर्वाचन आयोग से निर्देश लेकर नियमानुसार उचित कार्रवाई करेंगे। विधायक ने कहा कि भाजपा बेईमानी कर चुनाव जीतना चाहती है। ईमानदारी से तो वो जीत नहीं सकती। दम है तो बंगाल में ईवीएम छोड़ कर बैलेट पेपर से चुनाव करवा लें।

 

Check Also

Bank of Baroda की पैसों को डबल करने वाली स्कीम, 1000 रुपये से करें शुरू

पैसे निवेश करने के लिए हम बेहतर से बेहतर विकल्प की तलाश करते हैं. निवेश …