फरवरी में पेट्रोल-डीजल 15वीं बार महंगे:दिल्ली में पेट्रोल 90.93 रु. और मुंबई में 97.34 रुपए/लीटर हुआ, अभी और बढ़ सकते हैं दाम

आज एक बार फिर से पेट्रोल और डीज़ल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। इस बढ़ोतरी के साथ दिल्ली में पेट्रोल 90.93 रुपए और मुंबई में 97.34 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। आज दिल्ली में पेट्रोल-डीजल 35 पैसे प्रति लीटर महंगे हुए हैं। राजस्थान के गंगानगर में पेट्रोल 101.59 और मध्यप्रदेश के अनूपनगर में 101.34 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। इस महीने ये 15वीं बार बढ़ोतरी की गई है।

54 दिनों में ही 25 बार बढ़े दाम

फरवरी में अब तक पेट्रोल-डीजल के रेट में 15 बार बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान दिल्ली में पेट्रोल 4.38 रुपए और डीजल 4.59 रुपए महंगा हुआ है। इससे पहले जनवरी में रेट 10 बार बढ़े। इस दौरान पेट्रोल की कीमत में 2.59 रुपए और डीजल में 2.61 रुपए की बढ़ोतरी हुई थी। वहीं अगर 2021 की बात करें तो इस साल अब तक पेट्रोल 7.12 रुपए और डीजल 7.45 रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ है।

ब्रेंट क्रूड 65 डॉलर प्रति बैरल पार हुआ
सोमवार को ब्रेंट क्रूड 65 डॉलर प्रति बैरल के स्तर को पार कर गया। गोल्डमैन सैक्श ने अगले कुछ महीने में क्रूड का भाव 70 डॉलर तक पहुचने की भविष्यवाणी की है। ऐसे में पेट्रोल-डीजल के और महंगे होने की संभावना है।

मोदा सरकार में कच्चे तेल 40% सस्ता हुआ लेकिन पेट्रोल 28% महंगा हुआ
मई 2014 में जब मोदी पहली बार प्रधानमंत्री बने, तब कच्चे तेल की कीमत 106.85 डॉलर प्रति बैरल थी। एक बैरल यानी 159 लीटर। मोदी के प्रधानमंत्री बनने के तीन महीने बाद ही यानी सितंबर में कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर के नीचे आ गई और तब से नीचे ही है। अभी कच्चे तेल की कीमत 65 डॉलर प्रति बैरल है। यानी, मनमोहन सरकार जाने के बाद से कच्चे तेल की कीमतें करीब 40% तक कम हुई हैं।

1 साल में क्रूड ऑयल 10% बढ़ा लेकिन पेट्रोल 26% महंगा हो गया
अब बीते 1 साल की बात करें तो 20 फरवरी 2020 को कच्चे तेल का भाव करीब 59 डॉलर प्रति बैरल हुआ करता था जो अभी 64 डॉलर पर है यानी 1 साल में कच्चा तेल 8.47% महंगा हुआ है। वहीं अगर हम पेट्रोल की बात करें तो वो इस दौरान 26% महंगा हुआ है। 20 फरवरी 2020 को दिल्ली में पेट्रोल 72 रुपए प्रति लीटर था जो अब 90.93 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। मई 2020 में सरकार ने पेट्रोल पर 10 और डीजल पर 13 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई थी।

 

Check Also

CMIE की रिपोर्ट:धीरे-धीरे अपनी प्री-कोविड लेवल पर पहुंच रही है बेरोजगारी दर, लेकिन कम हो रही है लेबर फोर्स

सीएमआईई ने कहा- पिछले तीन वर्षों से रोजगार दर में गिरावट जारी है पिछले साल …