प्रत्याशियों की आवाज सुनते ही फोन काट देते हैं लोग इसलिए घर-घर जाकर वोट साध रहे उम्मीदवार

 

कोरोना काल में भी प्रत्याशी घर-घर जाकर प्रचार करने में जुटे हैं।

  • गया में प्रत्याशी देर रात तक प्रचार करने पहुंच रहे हैं
  • मोबाइल पर प्रचार का नुस्खा नहीं कर रहा काम

कोरोना के बावजूद नेता-कार्यकर्ताओं का चुनाव प्रचार अभियान थम नहीं रहा है। गया में वर्चुअल रैली की जगह डोर-टू-डोर कैम्पेनिंग को अधिक तरजीह दी जा रही है। जान की परवाह छोड़ प्रत्याशी देर रात तक प्रचार करते नजर आ रहे हैं। इस पर ना तो जिला प्रशासन की नजर है ना ही चुनाव आयोग दखल दे रहा है।

गया में मोबाइल से वोट साधने का नुस्खा पिछले कुछ चुनाव में ट्रेंड कर रहा था लेकिन इस बार प्रत्याशियों को ये रास नहीं आ रहा है। कम्प्यूटराइज्ड वॉइस में जनता को लुभाने वाले वादे जरूर से जरूर सुने जाते थे। इस पर उम्मीदवार अच्छा खासा पैसा खर्च करते थे लेकिन इस बार ये हथकंडा फ्लॉप होता नजर आ रहा है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस बार यह प्रभावी नहीं है। वोटर को अपनी ओर खींचने के लिए हमें डोर-टू-डोर जाना पड़ रहा है।

भाजपा के प्रदेश कार्य समिति के सदस्य संतोष ठाकुर ने कहा कि बेशक मोबाइल का जमाना है लेकिन मिलने से वोटर पर सीधा प्रभाव पड़ता है। मोबाइल पर मेसेज सुनने से पहले ही लोग कॉल काट देते हैं। जदयू महादलित प्रकोष्ठ के जितेंद्र दास कहते हैं कि मोबाइल के मेसेज को वोट में तब्दील करना संभव नहीं है। पिछले बार हमलोगों ने यह प्रयोग किया था लेकिन सफल नहीं हुआ था। कोरोना काल में बिना मास्क, बिना दूरी के प्रचार के सवाल पर गया नगर भाजपा के मीडिया सेल के आयुष सिंह कहते हैं कि हमलोग इसका ध्यान रख रहे हैं। टुकड़ियों में हम वोटरों से सम्पर्क साध रहे हैं। सामने से मिलने का रिजल्ट अच्छा रहता है इसलिए हमलोग जाकर मिल रहे हैं। जिन प्रत्याशियों पर जनता को विश्वास हो जाता है वह पार्टी कार्यालय आकर सम्पर्क करते हैं। जिला प्रशासन ने कोरोना काल में सतर्कता बरतने के लिए शनिवार को रिंगटोन और ऑडियो संदेश जारी किया है। डीपीआरओ एस झा ने कहा कि ये संदेश सभी मोबाइल यूजर को भेजे जाएंगे ताकि वह सजग रहें। इसमें मतदान के दिन कोविड-19 को लेकर गाइडलाइन बताया गया है ताकि लोग सुरक्षित मतदान कर सकें।

 

Check Also

चुनावी सभा में मंच पर बैठे थे तेजस्वी; पहली चप्पल बगल से गुजरी, दूसरी सीधा गोद में जा गिरी

  औरंगाबाद में चुनावी सभा के दौरान हुई चप्पल फेंकने की घटना सामने की ओर …