पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों का विरोध:वाराणसी में व्यापारियों ने महंगाई की निकाली अर्थी, गाड़ियों पर सरकार के खिलाफ पोस्टर लगा पैदल खींचा

 

वाराणसी युवा व्यापार मंडल के व्यापारियों के साथ आम जनता भी विरोध में शामिल हुई। - Dainik Bhaskar

वाराणसी युवा व्यापार मंडल के व्यापारियों के साथ आम जनता भी विरोध में शामिल हुई।

  • पेट्रोल के दामों में वृद्धि से व्यापार पर भी प्रभाव पड़ रहा हैं
  • व्यापारियों ने दो पहिया वाहनों पर पोस्टर चस्पा किया

पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के मूल्यों में वृद्धि को लेकर देशभर में प्रदर्शन और विरोध हो रहा है। इसी क्रम में रविवार को सिगरा क्षेत्र में वाराणसी युवा व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारी गाड़ियों पर सरकार के खिलाफ पोस्टर चिपका कर पैदल ही खींचते नजर आये। साथ ही महंगाई का प्रतीकात्मक अर्थी निकाल के सरकार के खिलाफ विरोध जताया।

GST ने पहले से ही परेशान कर रखा है, अब महंगाई

व्यापारी जय निलहानी ने बताया पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की दामों में वृद्धि ने बजट बिगाड़ कर रख दिया हैं। जब हम चीज पर GST दे ही रहे हैं, तो पेट्रोल और डीजल को भी उसके दायरे में लाया जाए। मिडिल क्लास को सबसे ज्यादा महंगाई की मार पड़ी है। पेट्रोल और डीजल में दाम बढ़ने से ट्रांसपोर्टेशन महंगा होगा। अपने आप ही हर चीज का दाम बढ़ने लगेगा।

महंगाई का प्रतीकात्मक अर्थी।

महंगाई का प्रतीकात्मक अर्थी।

सरकार के पास महंगाई रोकने को लेकर कोई योजना नही हैं। पिछली सरकार में यही लोग सड़कों पर उतर कर आंदोलन किया करते थे। आज अपनी नीतियों के कारण केंद्र की सरकार भी कटघरे में खड़ी हैं। सब्जियों, फलों और अनाज का दाम भी धीरे धीरे बढ़ने लगा हैं। आगे चरणबद्ध तरीके से आंदोलन जारी रहेगा।

 

Check Also

यूपी के संभल में सरकारी कर्मचारियों के जींस, टी-शर्ट पहनने पर प्रतिबंध

संभल (उप्र) : उत्तर प्रदेश के संभल जिले में सरकारी अधिकारियों के इनफॉर्मल कपड़े पहनने …