पुराना गोहाना अड्‌डा 1 घंटे जाम:दो मोहल्लों में बवाल का अंदेशा था; दिन ढले तीन थानों की पुलिस के पहरे में कामेश का अंतिम संस्कार

पाड़ा मोहल्ला में तनाव के चलते मंगलवार रात करीब 10 बजे मोर्चा संभाले पुलिस कर्मचारी। - Dainik Bhaskar

पाड़ा मोहल्ला में तनाव के चलते मंगलवार रात करीब 10 बजे मोर्चा संभाले पुलिस कर्मचारी।

  • जाम के बाद परिजनों के आक्रोश को देखते हुए दबाव में आई पुलिस ने 2 घंटे बाद ही हत्याकांड के मुख्यारोपी राहुल को किया गिरफ्तार

तेज कॉलोनी में सोमवार रात को हुई स्टेट लेवल के बॉक्सर कामेश की हत्या मामले में मंगलवार को खूब हंगामा हुआ। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग पर परिजनों ने मंगलवार शाम को पुराना गोहाना अड्‌डा पर जाम लगा दिया। लोगों ने शाम 4 बजे से 5 बजे तक रोड जाम रखा। इसके बाद देर शाम कामेश का अंतिम संस्कार भी भारी पुलिस पहरे के बीच हुआ।

तेज कॉलोनी और पाड़ा मोहल्ला पूरा दिन पुलिस छावनी बना रहा। दरअसल कामेश की हत्या के बाद दोपहर तक पुलिस और परिजनों के बीच कार्रवाई को लेकर सहमति नहीं बन रही थी। परिजन कोविड रिपोर्ट का इंतजार किए बगैर कामेश का पोस्टमार्टम मंगलवार को ही करने की मांग कर रहे थे।

साथ ही आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का दबाव बना रहे थे। जब दोपहर बाद तक कोई बात सिरे नहीं चढ़ी तो कामेश के परिजनों ने लोगों के साथ पुराना गोहाना अड्‌डा पर शाम 4 बजे जाम लगा दिया। वहां पुलिस नाके के बैरिकेड्स उठा लोगों ने रास्ते के बीचों बीच खड़े कर दिए।

चौराहे से निकलने वाले हर रास्ते को पत्थर के बड़े टुकड़े रखकर बंद कर दिया। परिजनों का कहना था कि कामेश के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी होने तक वो रोड से नहीं हटेंगे। साथ ही शर्त रखी की कामेश के शव को कोविड रिपोर्ट के इंतजार किए बगैर पोस्टमार्टम कराया जाए। शाम 5 बजे पुलिस के समझाने और कामेश का पोस्टमार्टम शुरू होने की जानकारी मिलने के बाद लोग रोड से हट गए।

रोड जाम और परिजनों के आक्रोश को देखते हुए दबाव में आई पुलिस ने 2 घंटे बाद ही हत्याकांड के मुख्यारोपी तेज कॉलोनी के राहुल उर्फ नली को गिरफ्तार कर लिया। उसे सीआईए वन प्रभारी इंस्पेक्टर प्रवीन शर्मा और उनकी टीम ने दबोचा।

सीने में दो बार चाकू लगा, कामेश डरा नहीं, आरोपी को ललकारता रहा

वारदात को लेकर मंगलवार को एक सीसीटीवी फुटेज वायरल हुई है। इसमें एक किशोरी के साथ छेड़खानी करने पर कुछ महिलाओं और लोगों ने दो युवकों ने धर लिया था। लोग जब उनके साथ मारपीट कर रहे थे तो उसी बीच कामेश और उसके दोस्त वहां पहुंचते हैं। वो आरोपियों को धमकाते हुए लोगों को समझाने की कोशिश करते हैं तो आरोपियों और कामेश के साथियों में मारपीट शुरू हो जाती है।

फुटेज इसी दौरान बीच बचाव करते कामेश को एक आरोपी सीने में चाकू से दो बार वार करता नजर आ रहा है। इसके बाद वो वहां से भाग निकलते हैं। कामेश टीशर्ट उठाकर एक बार अपना घाव देखता है और भाग रहे आरोपियों को ललकारता भी है। तभी उसे कुछ महिलाएं संभालती हैं। बाद में पीजीआई में कामेश की मौत हो जाती है।

पिता बोले- दो बहनों का भाई कैसे किसी बेटी से हरकत सहन कर लेता

मृतक कामेश के पिता राजेश नगर निगम में सहायक के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि उनके दो बेटी और एक बेटा कामेश उर्फ रौनक है। 7 जून की रात कामेश तेज कॉलोनी में अपने दोस्त विशाल और शिवा के पास गया था। वहां एक किशोरी से छेड़खानी पर कामेश ने आरोपियों का विरोध किया तो उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई।

राजेश का सवाल है कि उसके बेटे का क्या कसूर था। दो बहनों का भाई कैसे किसी भी बेटी से हो रही ऐसी हरकत सहन कर लेता। पुलिस सभी आरोपियों को गिरफ्तार करें और उन्हें फांसी हो।

शहर के दो मोहल्ले 24 घंटे से बने पुलिस छावनी

पुराने गाेहाना अड्डे पर जाम के दाैरान लाेगाें काे दूसरे रास्ते से जाने के लिए कहते परिजन।

पुराने गाेहाना अड्डे पर जाम के दाैरान लाेगाें काे दूसरे रास्ते से जाने के लिए कहते परिजन।

तेज कॉलोनी में पाड़ा मोहल्ला के युवक की हत्या के बाद दोनों मोहल्लों में तनाव बना हुआ है। सोमवार रात 11 बजे ही पाड़ा मोहल्ला और तेज कॉलोनी में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया था। मृतक पक्ष और आरोपी दोनों अलग-अलग समुदाय से हैं। ऐसे में तनाव के माहौल के बीच 24 घंटे से पुलिस के करीब 100 जवान दोनों मोहल्लों में डटे हैं।

लड़की के साथ छेड़छाड़ विवाद में कामेश हत्या की गई है। मुख्यारोपी राहुल को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे बुधवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।
-गोरखपाल राणा, हेड क्वार्टर डीएसपी।

खुफिया रिपोर्ट थी- अंतिम संस्कार के दौरान हो सकता है बलवा, तीन थानों और सीआईए से जुटाए पुलिस कर्मी, कड़े पहरे में अंतिम संस्कार

कामेश का शव परिजनों को पोस्टमार्टम के बाद शाम 6 बजे के करीब अंतिम संस्कार के लिए मिला। पाड़ा मोहल्ला और तेज कॉलोनी में दोनों समुदाय के बीच काफी तनाव था।

पुलिस को खुफिया रिपोर्ट मिली थी कि कामेश के अंतिम संस्कार के दौरान बलवा हो सकता है। ऐसे में पुलिस ने तीनों थानों के कर्मियों और सीआईए की तीनों यूनिट को श्मशान घाट और मोहल्लों में तैनात रखा। सादे कपड़ों में पुलिस रात को भी गश्त करती रही। सिटी थाना प्रभारी राकेश सैनी, पुराना सब्जी मंडी प्रभारी, पीजीआई थाना प्रभारी शमशेर सिंह, सीआईए टू प्रभारी नरेश राठी, एवीटी स्टाफ प्रभारी गोर्धन सिंह अपनी टीम के साथ तैनात रहे।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

मानसून ट्रैकर:बिहार के 16 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बाढ़ की वजह से पूर्वी चंपारण के 52 गांव प्रभावित; 27 जून को दिल्ली पहुंच सकता है मानसून

देश के पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश से नदियां उफान पर हैं। यहां भूस्खलन की …