पाकिस्तान बॉर्डर पर अलर्ट, चार महीने में 1300 किलोग्राम से अधिक हशीश जब्त, BSF ने गुजरात तट से लगे क्षेत्रों में सतर्कता बढ़ायी

नई दिल्ली/भुजः सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने कहा कि उसने पाकिस्तान से जुड़े मादक पदार्थ व्यापार का ‘‘नया प्रारूप’’ सामने आने से उत्पन्न चिंताओं के कारण गुजरात तट से लगे क्षेत्रों में सतर्कता बढ़ा दी है क्योंकि चार महीने में 1,300 किलोग्राम से अधिक हशीश जब्त की गई है।

बीएसएफ की भुज इकाई ने बुधवार को कच्छ के तटीय क्षेत्र में जखाऊ के पास तीन किलोग्राम हशीश जब्त की। सीमा सुरक्षा बल ने कहा कि उसने इस नवीनतम जब्ती में वही प्रारूप पाया है जो मादक पदार्थों की तस्करी के लिए अरब सागर मार्ग का उपयोग करने वाले मादक पदार्थ कार्टल की ओर इशारा करता है। बीएसएफ ने एक बयान में कहा, ‘‘अब तक मई से अगस्त के बीच, लगभग चार महीने की अवधि में बीएसएफ, पुलिस, तटरक्षक बल और नौसेना द्वारा क्रीक और जखाऊ तट से चरस (हशीश) के एक-एक किलोग्राम के 1,309 पैकेट जब्त किए गए हैं।

हशीश के इन पैकेट को जब्त किया जाना एक नयी प्रवृत्ति है और गुजरात राज्य में सक्रिय सभी सुरक्षा एजेंसियों के लिए चिंता का विषय है।’’ उसने कहा, ‘‘जब्त किए गए हशीश के सभी पैकेट लगभग समान प्रिंट के हैं और उसकी पैकेजिंग एक जैसी है। ये सभी जखाऊ के आसपास 58 किलोमीटर लंबे समुद्री तट पर पाए गए हैं। इससे गुजरात में अरब सागर तट से खतरा सामने आया है और गुजरात तट और क्रीक क्षेत्र में सतर्कता और कड़ी कर दी गई है।’’

अर्धसैनिक बल ने खबरों का हवाला देते हुए कहा कि पिछले एक साल के दौरान, पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने कराची तट के पास अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के नजदीक गहरे समुद्र में नशीले पदार्थों की जब्ती के लिए कई अभियान संचालित किये हैं।

बीएसएफ ने कहा, ‘‘ करीब 11,000 किलोग्राम मादक पदार्थ जब्त किया गया जिसमें हेरोइन, हशीश, ब्राउन/आइस क्रिस्टल, सिंथेटिक हेरोइन और अफीम शामिल है जिसकी कीमत 2200 करोड़ से अधिक पाकिस्तानी रुपये है। यह भी पता चला है कि पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों द्वारा रोके जाने पर भागने वाली कुछ नावों ने कराची के पास अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के पास समुद्र में अपना माल फेंक दिया।’’ बयान के अनुसार, इन नशीले पदार्थों की तस्करी अफगानिस्तान और ईरान से बलूचिस्तान और आगे सिंध (कराची) तक की जाती है।

उसने कहा, ‘‘प्लास्टिक की बोरियों में पैक करने के बाद, फौज़ी फ़र्टिलाइज़र्स कॉर्पोरेशन, पाकिस्तान (एफएफसी), 46 यूआरईए, एसओएनएू ब्रांड की नशीली दवाओं की तस्करी यूएई, सऊदी अरब, अफ्रीका और बाकी दक्षिण एशिया के हिस्सों में कराची तट पाकिस्तान से दूर एक छोटे तटीय गांव से की गयी।’’

बीएसएफ ने कहा कि गुजरात तट के पास से जब्त किए गए मादक पदार्थ के पैकेट पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जब्त किए गए पैकिंग के समान हैं। उसने कहा कि संभवत: हशीश की यह खेप भरत के लिए नहीं थी। लेकिन पाकिस्तानी तस्करों द्वारा अरब सागर के रास्ते मादक पदार्थो की बडऋे पैमाने पर तस्करी किए जाने के कारण गुजरात तटों का इस्तेमाल किए जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। सुरक्षा एजेंसियों को पूरे गुजरात तट और क्रीक इलाके में कड़ी निगरानी रखने के लिए चौकस कर दिया गया है।

Check Also

जम्मू-कश्मीर : अवंतीपोरा एनकाउंटर में एक आतंकी ढेर, ऑपरेशन खत्म

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के बडगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा …