पहली बार दैनिक भास्कर ने ड्रोन से दिखाई आस्था के महासंगम की तस्वीरें, VIDEO में देखें घाटों का अद्भुत नजारा

 

पटना के घाटों पर दिखा आस्था का महासंगम, छठव्रतियों की उमड़ी भीड़।

  • पटना के कई घाटों को छठ महापर्व पर दुल्हन की तरह सजाया गया।
  • सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं रखा गया ख्याल, कुछ ही लोग मास्क में नजर आए।

घाटों पर छठ पूजा का नजारा देखते ही बनता है। श्रद्धा के महासंगम में हर कोई डुबकी लगाना चाहता है। पहली बार दैनिक भास्कर छठ महापर्व का अद्भुत नजारा आसमान से दिखा रहा है। अस्ताचलगामी सूर्य के अर्घ्य के दौरान पटना के कई घाटों पर ड्रोन कैमरे से वीडियो के साथ-साथ तस्वीरें ली गईं।

कलेक्ट्रेट घाट पर कुछ ऐसा दिखा नजारा
कलेक्ट्रेट घाट को दुल्हन की तरह सजाया गया था। घाटों पर फूल माला के साथ रंग बिरंगी झालरों से सुसज्जित किया गया था। कलेक्ट्रेट कार्यालय के पीछे मंदिर से लेकर घाट तक विशेष तैयारी की गई थी। व्रतियों के लिए मेडिकल कैंप और सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम तो था ही साथ ही साथ बैरिकेडिंग कर कपड़ों से सजा दिया गया था जो घाट की शेभा बढ़ाने का काम कर रहा था।

अस्ताचलगामी अर्घ्य के दौरान घाटों पर छठव्रतियों की उमड़ी भीड़।

अस्ताचलगामी अर्घ्य के दौरान घाटों पर छठव्रतियों की उमड़ी भीड़।

घाट से भागा कोरोना संदिग्ध मरीज
पटना के घाटों पर छठव्रतियों की भीड़ में कोरोना गाइडलाइन का कहीं भी पालन होता नहीं दिखा। ड्रोन कैमरे में साफ नजर आया कि कुछ ही लोग मास्क पहने दिखे। सोशल डिस्टेंसिंग तो ताक पर रख दी गई थी। इस दौरान ही पाटीपुल घाट पर छठव्रतियों के साथ एक कोरोना संदिग्ध मरीज भी परिजनों के साथ आया हुआ था। एनडीआरएफ कैंप के पास संदिग्ध मरीज बैठा हुआ था। स्वास्थ्य कर्मियों को इसकी भनक लग गई। लेकिन, उनके पहुंचने से पहले ही परिजनों के साथ कोरोना संदिग्ध मरीज भाग गया।

घाटों पर पूरा पटना उमड़ आया
आसमान से ड्रोन के कैमरे में कैद हो रही तस्वीरों में साफ दिख रहा है कि छठव्रतियों के साथ उनके परिजन भी बड़ी संख्या में घाटों पर आए हैं। महिलाओं की नाक से लेकर माथे तक लगा सिंदूर और कष्ट पर भारी पड़ती उनकी श्रद्धा आसमान से भी चमक रही थी। बच्चों की मस्ती और पुरुषों का पूजा में सहयोग भी खूब दिखा। माथे पर प्रसाद की टोकरी लेकर आते पुरुष और पीछे से गाना गाते हुए घाट पर आती महिलाएं श्रद्धा की मिसाल पेश कर रही थीं।

शुक्रवार की शाम 4 बजे से ही घाटों पर पहुंचने लगे थे छठव्रती।

शुक्रवार की शाम 4 बजे से ही घाटों पर पहुंचने लगे थे छठव्रती।

कोरोना पर भारी पड़ी आस्था
कोरोना काल में छठ का पर्व पड़ा, ऐसा माना जा रहा था कि वायरस के डर से लोग घर में ही उपासना करेंगे। घाटों पर भीड़ नहीं होगी, लेकिन आस्था वायरस पर भी भारी पड़ी। प्रशासन भी बार-बार लोगों से अपील करता रहा कि घाटों पर भीड़ से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का नियम टूट सकता है जिससे कोरोना का खतरा है। लेकिन इसके बाद भी घाटों पर भारी भीड़ हुई। सूर्य अस्त के दौरान भीड़ का रिकार्ड टूट गया, अधिक संख्या में लोगों ने घर पर भी छठ की उपासना की है। इसके बाद भी घाटों पर जबरदस्त भीड़ दिखी।

अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देतीं छठव्रती।

अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देतीं छठव्रती।

हर घाट पर श्रद्धा का सैलाब
पटना के कलेक्ट्रेट घाट, पाटीपुल घाट, गाय घाट और बदर घाट से लेकर कोई ऐसा घाट नहीं था, जहां आस्था का जन सैलाब न दिखा हो। दैनिक भास्कर के ड्रोन कैमरे ने आसमान से जो तस्वीरें और वीडियो दी हैं। वह बता रही हैं कि श्रद्धा के आगे वायरस भी छोटा गया।

 

Check Also

तेजस्वी के विवादित बोल पर हंगामा, कहा- लड़की न हो जाए इसलिए नीतीश कुमार ने एक लड़के के बाद नहीं पैदा किए बच्चे

विधानसभा के बाहर किसानों के मुद्दे पर विपक्ष का हंगामा जारी है। नेता प्रतिपक्ष ने …