पटना के डॉग शो में हंगामे के बाद भगदड़:अमेरिकन बुली ने पग की गर्दन मुंह में दबा ली तो आपस में लड़ गए दोनों के मालिक

 

आपसे में उलझे डॉग्स को छुड़ाने की कोशिश करते उनके मालिक। - Dainik Bhaskar

आपसे में उलझे डॉग्स को छुड़ाने की कोशिश करते उनके मालिक।

  • वेटनरी कॉलेज में सुरक्षा को दरकिनार कर हुआ खतरनाक कुत्तों का शो
  • हमले के दौरान कई खतरनाक कुत्ते चेन तोड़ लोगों को दौड़ाने लगे

वेटनरी कॉलेज के LRS कैंपस में रविवार को डॉग शो के दौरान अमेरिकन बुल ने हमला कर दिया। कई डॉग को हमला कर लहूलुहान कर दिया। खतरनाक अमेरिकन बुल के हमले से भगदड़ मच गई, जिससे कई लोग घायल हुए। बवाल तब और मच गया जब आक्रोशित लोग हमलावर डॉग को मारने के लिए दौड़े। इसपर डॉग के मालिकों में बवाल मच गया। किसी तरह हमलावर अमेरिकन बुली को कार से लेकर लोग भागे तब उसकी जान बची। बवाल के दौरान कई खतरनाक डॉग चेन तोड़ लोगों को दौड़ा लिए। काफी देर बाद मामला शांत हुआ।

इसी 'पग' डॉग पर सबसे पहले किया था हमला।

इसी ‘पग’ डॉग पर सबसे पहले किया था हमला।

आयोजकों की मनमानी से हो सकती थी बड़ी घटना

कैनाइन क्लब ऑफ बिहार और R Vet W एसोसिएशन ने रविवार को कैनाइन फिटनेस शो आयोजित किया था। वेटनरी कॉलेज के LRS कैंपस में शो चल रहा था। दोपहर लगभग 2.30 बजे अचानक खतरनाक डॉग अमेरिकन बुली की पकड़ मालिक के हाथ से ढीली पड़ी जिसके बाद उसने हमला बोल दिया। पहले उसने पग प्रजाति के डॉग की गर्दन मुंह में दबा ली। दर्जनों लाेग उसे बचाने में जुटे लेकिन अमेरिकन बुली उसे छोड़ नहीं रहा था। लोगों ने जब अमेरिकन बुली पर हमला किया तब उसने पग की गर्दन छोड़ी। लेकिन इसके बाद वहां मौजूद भीड़ में लोगों की तरफ वह दौड़ पड़ा। खूनी मुंह देखकर वहां मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई। इस घटना में लोगों को चोट आई। इस बीच अमेरिकन बुली ने कई डॉग पर हमला किया, मुश्किल से घायल डॉग को छुड़ाया जा सका। इस शो में आयोजकों की बड़ी मनमानी सामने आई है। यह लापरवाही बड़ी घटना को अंजाम दे सकती थी।

भगदड़ मची तो कई खतरनाक कुत्ते खुल गए

भगदड़ मचते ही कई खतरनाक प्रजाति के कुत्ते जो चेन से बंधे थे, खुल गए। डॉग शो में अधिक संख्या में छोटे-छोटे बच्चे आए थे। वह दूर से कुत्तों को देख रहे थे लेकिन जब अमेरिकन बुली ने हमला किया और भगदड़ में अन्य खतरनाक डॉग खुल गए तो खतरा बढ़ गया। इस दौरान सुरक्षा को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। ऐसे में बच्चों के साथ कोई बड़ी घटना हो सकती थी। रॉट विलर से लेकर अन्य कई खतरनाक प्रजाति के कुत्ते शो में थे जिनके हमले से छोटे बच्चों का बचा पाना मुश्किल होता। बेहद आक्रामक और सिरफिरे किस्म की इन प्रजातियों को जर्मनी, डेनमार्क, स्पेन, ग्रेट ब्रिटेन, आयरलैंड, रोमानिया, कनाडा, इटली और फ्रांस में बैन किया गया है।

खतरनाक डॉग के मुंह पर नहीं था मजल

डॉग शो में आयोजकों की बड़ी मनमानी सामने आई है। किसी भी खतरनाक डाॅग के मुंह पर मजल नहीं लगा था। मजल नहीं होने से कुत्तों के हमले में बचना मुश्किल होता है। मजल का नियम इसलिए बनाया गया है कि भीड़ में कोई भी खतरनाक कुत्ता किसी पर हमला नहीं कर सके। लोगों का कहना है कि अमेरिकन बुली SK पुरी क्षेत्र से ले जाया गया था। इस घटना में कुत्तों के मालिकों ने जमकर बवाल किया। आयोजकों पर भी आक्रोश था कि इतने बड़े शो में मजल तक पर ध्यान नहीं दिया गया।

 

Check Also

दौड़ते-दौड़ते सवा लाख के अमेरिकन बुलडॉग की मौत:पटना ​​​​​​वेटनरी कॉलेज में इलाज की पूरी व्यवस्था, वहीं हांफते-हांफते तोड़ दिया दम

  यही है अमेरिकन बुलडॉग जिसकी हुई मौत। डॉक्टरों की पूरी फौज मौजूद लेकिन हालात …