नवादा में 55 करोड़ की लागत से बनने वाले कृत्रिम अंग निर्माण कारखाना का किया गया भूमिपूजन

 

नवादा गांव में 55 करोड़ की लागत से तैयार होने वाले कृत्रिम अंग निर्माण कारखाना के माडल को देखते केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर।

नवादा गांव में 55 करोड़ की लागत से कृत्रिम अंग निर्माण कारखाना तैयार होगा। सोमवार को इसका भूमिपूजन किया गया। इस दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि नवादा में एलिम्को कंपनी की ओर से बनाए जा रहे पुनर्वास केंद्र से पूरे एनसीआर में कृत्रिम अंगों का वितरण किया जाएगा।

केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि नवादा में बनने वाला एलिम्को सेंटर उत्तर भारत का सबसे बड़ा दूसरा केंद्र होगा। जहां से बनने वाले कृत्रिम अंगों का पूरे एनसीआर में वितरण होगा। देश में अभी पांच कारखाने थे। नवादा में यह छठा कारखाना होगा। इसे पांच एकड़ में 55 करोड़ की लागत से बनाया जाएगा। इसमें 40 करोड़ की लागत से बिल्डिंग और 15 करोड़ की लागत से मशीनें लगाई जाएंगी।

इस कारखाने में 70 प्रतिशत स्थानीय युवाओं को नौकरी दी जाएगी। मार्च 2022 तक इस कारखाने की पूरी बिल्डिंग तैयार कर दिसंबर 2022 तक मशीनें लगाकर इसे शुरू कर दिया जाएगा। यहां लगने वाले कारखाने में दिव्यांगों के लिए मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल, व्हीलचेयर, बैसाखी, वॉकिंग स्टिक के साथ-साथ कानों से सुनने वाली मशीन व अन्य कृत्रिम अंगों का निर्माण किया जाएगा।

 

Check Also

शासन-प्रशासन की अनदेखी से परेशान खिलाड़ी खुद कर रहे ग्राउंड में घास की कटाई

खिलाड़ी ही घास हटाने का काम कर रहे हैं। रोज गांधी ग्राउंड में प्रैक्टिस करने …